Vigilance Will Investigate Properties Of Former Minister Bharat Bhushan Ashu – निविदा घोटाला: पूर्व खाद्य मंत्री आशु की संपत्तियों को खंगालेगी विजिलेंस, रिश्तेदारों- कारीबियों पर भी निगाहें

0
12

ख़बर सुनें

खाद्य विभाग के निविदा घोटाले में गिरफ्तार पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु की संपत्तियां की विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी है। विजिलेंस ने आशंका जताई है कि पूर्व मंत्री ने घोटाले की रकम से राज्य और दूसरे प्रांतों में करोड़ों रुपये की संपत्तियों की खरीद फरोख्त की है। आशु के रिश्तेदारों और करीबियों पर भी विजिलेंस ने नजर रखनी शुरू कर दी है।

गिरफ्तारी के बाद मंगलवार की रात विजिलेंस ने पूर्व मंत्री के लुधियाना आवास में कई संपत्तियों के कागजों की पड़ताल की, हालांकि उन्हें इसमें कुछ हासिल नहीं हो पाया। विजिलेंस ब्यूरो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूर्व मंत्री की संपत्ति का विवरण या तो उसके नाम पर या उसके परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों या करीबी दोस्तों के नाम पर खंगाला जा रहा है। साथ ही आशु के निजी बैंक खातों की भी जांच पड़ताल की जा रही है। 

विजिलेंस के अधिकारी ने बताया कि आशु के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री बनने के बाद खरीदी गई संपत्तियों या रियल एस्टेट के क्षेत्र में निवेश की जांच की जाएगी। जांच में अगर यह खुलासा होता है कि कोई संपत्ति अघोषित आय से खरीदी गई है तो उसे विजिलेंस कुर्क करने की कार्रवाई करेगी।

पूर्व मंत्री आशु का पीए निकला करोड़पति 
भारत भूषण आशु के फरार पीए मीनू पंकज मल्होत्रा पर भी विजिलेंस ने शिकंजा कस दिया है। जांच में पता चला है कि सरकारी डिपो और घर के बाहर किराने की दुकान चलाने वाला मीनू कुछ ही समय में करोड़ों की प्रॉपटी का मालिक बन गया है। उसकी पॉश इलाके में छह से ज्यादा प्रॉपटियां हैं। विजिलेंस ने इसका रिकॉर्ड नगर निगम से निकलवा लिया है। कई बेनामी संपत्तियों के बारे में भी जानकारी मिली है। 

विजिलेंस को टेंडर घोटाले में गिरफ्तार तेलू राम से मीनू पंकज से संबंधों के सुबूत मिले थे। विजिलेंस ने उसे जांच में शामिल होने के लिए कहा था, लेकिन वह फरार हो गया है। उसकी तलाश में लगातार छापे मारे जा रहे हैं लेकिन वह नहीं मिला है। मीनू आशु का काफी करीबी है। टेंडर घोटाले में लेनदेन में उसकी भूमिका अहम रही है। तेलू राम ने भी मीनू का नाम लिया था। 
 

विस्तार

खाद्य विभाग के निविदा घोटाले में गिरफ्तार पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु की संपत्तियां की विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी है। विजिलेंस ने आशंका जताई है कि पूर्व मंत्री ने घोटाले की रकम से राज्य और दूसरे प्रांतों में करोड़ों रुपये की संपत्तियों की खरीद फरोख्त की है। आशु के रिश्तेदारों और करीबियों पर भी विजिलेंस ने नजर रखनी शुरू कर दी है।

गिरफ्तारी के बाद मंगलवार की रात विजिलेंस ने पूर्व मंत्री के लुधियाना आवास में कई संपत्तियों के कागजों की पड़ताल की, हालांकि उन्हें इसमें कुछ हासिल नहीं हो पाया। विजिलेंस ब्यूरो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूर्व मंत्री की संपत्ति का विवरण या तो उसके नाम पर या उसके परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों या करीबी दोस्तों के नाम पर खंगाला जा रहा है। साथ ही आशु के निजी बैंक खातों की भी जांच पड़ताल की जा रही है। 

विजिलेंस के अधिकारी ने बताया कि आशु के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री बनने के बाद खरीदी गई संपत्तियों या रियल एस्टेट के क्षेत्र में निवेश की जांच की जाएगी। जांच में अगर यह खुलासा होता है कि कोई संपत्ति अघोषित आय से खरीदी गई है तो उसे विजिलेंस कुर्क करने की कार्रवाई करेगी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here