The 22nd Edition Of Amar Ujala Begins From Shoghi Shimla Himachal – Amar Ujala Shimla Edition: शिमला के शोघी से अमर उजाला का 22वां संस्करण शुरू

0
11

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में शिमला के शोघी से अमर उजाला के 22वें संस्करण का वीरवार को हवन यज्ञ और कन्या पूजन के साथ विधिवत मुद्रण और प्रकाशन शुरू हो गया। इस मौके पर अमर उजाला समूह के प्रबंध निदेशक तन्मय माहेश्वरी और समूह के प्रेजीडेंट वरुण माहेश्वरी विशेष रूप से मौजूद रहे। इस अवसर पर अमर उजाला परिवार ने हवन यज्ञ में आहुतियां देते हुए विधि-विधान के साथ पूजा संपन्न की। अमर उजाला का यह संस्करण समुद्रतल से सर्वाधिक करीब 5700 फीट की ऊंचाई पर स्थित है, जो कि प्रकाशन केंद्रों में से सर्वाधिक ऊंचाई है। इसके साथ ही पाठकों के अटूट विश्वास ने अमर उजाला को छह राज्यों, दो केंद्रशासित प्रदेशों के 22 संस्करणों वाले विशाल समूह में परिवर्तित कर दिया है। देवभूमि हिमाचल और अमर उजाला का जुड़ाव नया नहीं है। 20 जुलाई 1999 में चंडीगढ़ संस्करण के आरंभ के साथ अमर उजाला ने हिमाचल प्रदेश में कदम रखा था।

इसके बाद 8 दिसंबर 2005 में अत्याधुनिक मुद्रण (प्रिंटिंग) केंद्र के साथ धर्मशाला से संस्करण आरंभ किया था। अब शिमला के शोघी से भी संस्करण शुरू हो गया। इस संस्करण के साथ अब यह समाचार पत्र भारत-चीन शासित तिब्बत सीमा के अंतिम गांव तक सूरज की पहली किरण के साथ पहुंचेगा। हिमाचल प्रदेश में यह समाचार पत्र दिन का उजाला होते ही पहुंच सके, इस उद्देश्य से ही शिमला से भी इसका एक और संस्करण शुरू किया गया है। राजधानी शिमला के औद्योगिक क्षेत्र शोघी में इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक से युक्त प्रिंटिंग प्रेस स्थापित की गई है। यहां पर छपा समाचार पत्र किन्नौर के अलावा शिमला जिले के रोहडू़, रामपुर आदि क्षेत्रों के दुर्गम क्षेत्रों में भी सूर्योदय के साथ ही ताजा समाचार लेकर पहुंचेगा। सिरमौर और सोलन जिलों के दूरदराज क्षेत्रों तक भी अब अमर उजाला समय पर पहुंचेगा। 

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में शिमला के शोघी से अमर उजाला के 22वें संस्करण का वीरवार को हवन यज्ञ और कन्या पूजन के साथ विधिवत मुद्रण और प्रकाशन शुरू हो गया। इस मौके पर अमर उजाला समूह के प्रबंध निदेशक तन्मय माहेश्वरी और समूह के प्रेजीडेंट वरुण माहेश्वरी विशेष रूप से मौजूद रहे। इस अवसर पर अमर उजाला परिवार ने हवन यज्ञ में आहुतियां देते हुए विधि-विधान के साथ पूजा संपन्न की। अमर उजाला का यह संस्करण समुद्रतल से सर्वाधिक करीब 5700 फीट की ऊंचाई पर स्थित है, जो कि प्रकाशन केंद्रों में से सर्वाधिक ऊंचाई है। इसके साथ ही पाठकों के अटूट विश्वास ने अमर उजाला को छह राज्यों, दो केंद्रशासित प्रदेशों के 22 संस्करणों वाले विशाल समूह में परिवर्तित कर दिया है। देवभूमि हिमाचल और अमर उजाला का जुड़ाव नया नहीं है। 20 जुलाई 1999 में चंडीगढ़ संस्करण के आरंभ के साथ अमर उजाला ने हिमाचल प्रदेश में कदम रखा था।

इसके बाद 8 दिसंबर 2005 में अत्याधुनिक मुद्रण (प्रिंटिंग) केंद्र के साथ धर्मशाला से संस्करण आरंभ किया था। अब शिमला के शोघी से भी संस्करण शुरू हो गया। इस संस्करण के साथ अब यह समाचार पत्र भारत-चीन शासित तिब्बत सीमा के अंतिम गांव तक सूरज की पहली किरण के साथ पहुंचेगा। हिमाचल प्रदेश में यह समाचार पत्र दिन का उजाला होते ही पहुंच सके, इस उद्देश्य से ही शिमला से भी इसका एक और संस्करण शुरू किया गया है। राजधानी शिमला के औद्योगिक क्षेत्र शोघी में इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक से युक्त प्रिंटिंग प्रेस स्थापित की गई है। यहां पर छपा समाचार पत्र किन्नौर के अलावा शिमला जिले के रोहडू़, रामपुर आदि क्षेत्रों के दुर्गम क्षेत्रों में भी सूर्योदय के साथ ही ताजा समाचार लेकर पहुंचेगा। सिरमौर और सोलन जिलों के दूरदराज क्षेत्रों तक भी अब अमर उजाला समय पर पहुंचेगा। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here