Police Caught Child Stealers From Hospital In Amritsar – सावधान करने वाली खबर: मदद के नाम पर अस्पताल से बच्चा चुराया, गेट पर पकड़ी गई, ऐसे बातों में उलझाया

0
16

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

पंजाब के अमृतसर में गुरु नानक देव अस्पताल से बच्चे चुराने वाले गैंग के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी दो जुड़वां बच्चों में से एक को चुराकर भाग गए थे। सही समय पर इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई। पुलिस ने गुरु नानक देव अस्पताल के एग्जिट प्वाइंट्स पर नजर रखनी शुरू कर दी और कुछ देर में ही आरोपियों को दबोच लिया।

आरोपियों की पहचान सुल्तानविंड रोड में रह रहे सतनाम सिंह उर्फ सत्ती और अनुप्रीत कौर उर्फ प्रीत के रूप में हुई है। गुरु नानक देव अस्पताल में अपनी गर्भवती बहन के साथ पहुंची मनदीप कौर ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन ने दो जुड़वां बच्चों को जन्म दिया। तभी आरोपी प्रीत उनके पास आई और बातें करनी शुरू कर दी। प्रीत ने बताया कि उसके भी दो बच्चे हैं। तभी डॉक्टर ने बच्चों को छठे फ्लोर पर बुला लिया, ताकि उनका चेकअप किया जा सके।

मनदीप कौर बच्चों को लेकर छठे फ्लोर पर जाने लगी। सीढ़ियों के पास प्रीत दोबारा मिल गई और मदद के लिए एक बच्चा उठाने की पेशकश की। उन्होंने बच्ची को गोद में उठा लिया। वह सीढ़ियां चढ़ने लगी, तभी प्रीत लिफ्ट की तरफ भाग गई। वह खुद लिफ्ट की तरफ भागी लेकिन लिफ्ट का दरवाजा बंद हो गया। वह छठे फ्लोर पर लिफ्ट देखने गई लेकिन प्रीत बच्चे के साथ लिफ्ट से भाग चुकी थी।

इतनी ही देर में बहन का पति भी अस्पताल पहुंच गया। उन्होंने इसकी जानकारी उन्हें दी और पुलिस को भी सूचित कर दिया। बच्चों को ढूंढने के लिए पुलिस ने उसी समय प्रयास शुरू कर दिया। अस्पताल से ही बच्चे को रिकवर कर लिया गया। प्रीत अकेले नहीं थी, उसके साथ दूसरा आरोपी सतनाम भी साथ था। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है और मामला दर्ज कर लिया है।

विस्तार

पंजाब के अमृतसर में गुरु नानक देव अस्पताल से बच्चे चुराने वाले गैंग के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी दो जुड़वां बच्चों में से एक को चुराकर भाग गए थे। सही समय पर इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई। पुलिस ने गुरु नानक देव अस्पताल के एग्जिट प्वाइंट्स पर नजर रखनी शुरू कर दी और कुछ देर में ही आरोपियों को दबोच लिया।

आरोपियों की पहचान सुल्तानविंड रोड में रह रहे सतनाम सिंह उर्फ सत्ती और अनुप्रीत कौर उर्फ प्रीत के रूप में हुई है। गुरु नानक देव अस्पताल में अपनी गर्भवती बहन के साथ पहुंची मनदीप कौर ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन ने दो जुड़वां बच्चों को जन्म दिया। तभी आरोपी प्रीत उनके पास आई और बातें करनी शुरू कर दी। प्रीत ने बताया कि उसके भी दो बच्चे हैं। तभी डॉक्टर ने बच्चों को छठे फ्लोर पर बुला लिया, ताकि उनका चेकअप किया जा सके।

मनदीप कौर बच्चों को लेकर छठे फ्लोर पर जाने लगी। सीढ़ियों के पास प्रीत दोबारा मिल गई और मदद के लिए एक बच्चा उठाने की पेशकश की। उन्होंने बच्ची को गोद में उठा लिया। वह सीढ़ियां चढ़ने लगी, तभी प्रीत लिफ्ट की तरफ भाग गई। वह खुद लिफ्ट की तरफ भागी लेकिन लिफ्ट का दरवाजा बंद हो गया। वह छठे फ्लोर पर लिफ्ट देखने गई लेकिन प्रीत बच्चे के साथ लिफ्ट से भाग चुकी थी।

इतनी ही देर में बहन का पति भी अस्पताल पहुंच गया। उन्होंने इसकी जानकारी उन्हें दी और पुलिस को भी सूचित कर दिया। बच्चों को ढूंढने के लिए पुलिस ने उसी समय प्रयास शुरू कर दिया। अस्पताल से ही बच्चे को रिकवर कर लिया गया। प्रीत अकेले नहीं थी, उसके साथ दूसरा आरोपी सतनाम भी साथ था। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है और मामला दर्ज कर लिया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here