Industries Of Mandi Gobindgarh Are Going On Two-day Strike To Protest Against Increasing Price Of Png – Png Price Hike: मंडी गोबिंदगढ़ के उद्यमी करेंगे दो दिन की हड़ताल, कहा-कैसे करें पड़ोसी राज्यों से मुकाबला

0
11

ख़बर सुनें

पंजाब के औद्योगिक शहर मंडी गोबिंदगढ़ में करीब 150 बड़ी इकाइयां पीएनजी के लगातार बढ़ते दाम के विरोध में दो दिन की हड़ताल पर जा रही हैं। यह निर्णय ऑल इंडिया स्टील री रोलर्स एसोसिएशन और स्मॉल स्केल स्टील री रोलर्स एसोसिएशन मंडी गोबिंदगढ़ द्वारा लिया गया है। आईसरा के अध्यक्ष विनोद वशिष्ठ ने कहा कि 7 व 8 सितंबर को पीएनजी दरों में वृद्धि के विरोध में सभी सदस्यों की दो दिन की सांकेतिक हड़ताल की जाएगी। सभी से अनुरोध किया गया है कि अपनी औद्योगिक इकाइयां बंद रखें। इसके अलावा पीएनजी आधारित मिलों ने गैस कंपनी को हड़ताल की जानकारी दी है। 

विनोद वशिष्ठ ने कहा कि गैस की लगातार बढ़ती कीमतों के कारण वह पड़ोसी राज्यों से मुकाबला करने में असमर्थ हो गए हैं। इस बारे में एक ज्ञापन प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पंजाब और स्थानीय विधायक गुरिंदर सिंह गैरी बारिंग को दिया जाएगा। उनकी मांग है कि गैस की बढ़ती कीमतों को कम किया जाए, नहीं तो आने वाले दिनों में उद्योग पूरी तरह से बंद हो जाएगा। गैस के दाम बढ़ने से उन्हें लाखों रुपये अतिरिक्त चुकाने पड़ रहे हैं।  

उन्होंने सरकार को सुझाव दिया कि बड़ी औद्योगिक इकाइयों को कार्बन क्रेडिट योजना दी जानी चाहिए ताकि वे पीएनजी के कारण होने वाले अतिरिक्त खर्च की वसूली कर सकें। इसके अलावा आईसरा के एक सदस्य उद्योगपति जगमोहन डाटा ने कहा कि सरकार और प्रदूषण बोर्ड ने औद्योगिक इकाइयों में कोयले की खपत को बंद किया था। इसके बावजूद एयर क्वालिटी इंडेक्स पहले जितना ही है। इससे साफ है कि फैक्ट्रियों से प्रदूषण नहीं हो रहा है। जब पीएनजी नहीं थी, हमारे कारखाने कोयले पर चलते थे और हमारी पहुंच में थे। पिछले छह महीने से लगातार बढ़ रही गैस की कीमतों ने उद्योगपतियों को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया है। निकट भविष्य में उद्योग प्रतिस्पर्धा के कारण पड़ोसी राज्यों से पिछड़ जाएंगे। सरकार को बिना देर किए पीएनजी के दाम कम करने चाहिए।

विस्तार

पंजाब के औद्योगिक शहर मंडी गोबिंदगढ़ में करीब 150 बड़ी इकाइयां पीएनजी के लगातार बढ़ते दाम के विरोध में दो दिन की हड़ताल पर जा रही हैं। यह निर्णय ऑल इंडिया स्टील री रोलर्स एसोसिएशन और स्मॉल स्केल स्टील री रोलर्स एसोसिएशन मंडी गोबिंदगढ़ द्वारा लिया गया है। आईसरा के अध्यक्ष विनोद वशिष्ठ ने कहा कि 7 व 8 सितंबर को पीएनजी दरों में वृद्धि के विरोध में सभी सदस्यों की दो दिन की सांकेतिक हड़ताल की जाएगी। सभी से अनुरोध किया गया है कि अपनी औद्योगिक इकाइयां बंद रखें। इसके अलावा पीएनजी आधारित मिलों ने गैस कंपनी को हड़ताल की जानकारी दी है। 

विनोद वशिष्ठ ने कहा कि गैस की लगातार बढ़ती कीमतों के कारण वह पड़ोसी राज्यों से मुकाबला करने में असमर्थ हो गए हैं। इस बारे में एक ज्ञापन प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पंजाब और स्थानीय विधायक गुरिंदर सिंह गैरी बारिंग को दिया जाएगा। उनकी मांग है कि गैस की बढ़ती कीमतों को कम किया जाए, नहीं तो आने वाले दिनों में उद्योग पूरी तरह से बंद हो जाएगा। गैस के दाम बढ़ने से उन्हें लाखों रुपये अतिरिक्त चुकाने पड़ रहे हैं।  

उन्होंने सरकार को सुझाव दिया कि बड़ी औद्योगिक इकाइयों को कार्बन क्रेडिट योजना दी जानी चाहिए ताकि वे पीएनजी के कारण होने वाले अतिरिक्त खर्च की वसूली कर सकें। इसके अलावा आईसरा के एक सदस्य उद्योगपति जगमोहन डाटा ने कहा कि सरकार और प्रदूषण बोर्ड ने औद्योगिक इकाइयों में कोयले की खपत को बंद किया था। इसके बावजूद एयर क्वालिटी इंडेक्स पहले जितना ही है। इससे साफ है कि फैक्ट्रियों से प्रदूषण नहीं हो रहा है। जब पीएनजी नहीं थी, हमारे कारखाने कोयले पर चलते थे और हमारी पहुंच में थे। पिछले छह महीने से लगातार बढ़ रही गैस की कीमतों ने उद्योगपतियों को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया है। निकट भविष्य में उद्योग प्रतिस्पर्धा के कारण पड़ोसी राज्यों से पिछड़ जाएंगे। सरकार को बिना देर किए पीएनजी के दाम कम करने चाहिए।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here