Himachal Weather Update For Six Days, Heavy Rain Alert In State – Himachal Weather: भूस्खलन से दो एनएच बंद, मकान-गोशाला जमींदोज, दो दिन भारी बारिश का अलर्ट

0
14

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में रविवार को कई क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। वर्षा से हुए भूस्खलन के कारण मंडी-जालंधर और औट-आनी एनएच बाधित रहे। विकास खंड हमीरपुर की ग्राम पंचायत नेरी में एक स्लेट वाला मकान जमींदोज हो गया। मकान के मलबे के नीचे सारा सामान भी दब गया। यह हादसा रविवार तड़के हुआ। परिवार के सदस्यों ने भाग कर अपनी जान बचाई। वहीं, उपमंडल नादौन में अमलैहड़ क्षेत्र के गांव भावड़ा में एक पशुशाला जमींदोज हो गई। राज्य में बारिश से 28 सड़कें बंद रहीं, जबकि बिजली के सात ट्रांसफार्मर ठप रहे।  नेशनल हाईवे-305 औट-आनी रविवार को भूस्खलन के कारण बाधित हो गया। कुल्लू से रवाना हुई निगम की बसों को आधे रास्ते ही वापस आना पड़ा और बस की सवारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

लोगों को कमांद से लेकर शमशर तक उतराई में चलकर पैदल पहुंचना पड़ा। जिले की 12 सड़कों पर यातायात प्रभावित हो गया। वहीं मौसम के कारण जिला में बागवान सेब का तुड़ान भी बागवान नहीं कर पाए हैं। राज्य में 19 बिजली के ट्रांसफार्मर भी जाम हो गए। धर्मपुर क्षेत्र में शनिवार रात को हुई मूसलाधार बारिश से एनएच- 03 जालंधर-मंडी बाया धर्मपुर-कोटली सिंहन के पास भूस्खलन होने से करीब 10 घंटे बाधित रहा। मार्ग को रविवार दोपहर करीब एक बजे यातायात के लिए बहाल कर दिया गया। मार्ग बंद होने के चलते सैकड़ों वाहनों को सड़क के दोनों ओर कतारों में लगे हुए देखा गया। इनमें बैठे लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ी। जिला कांगड़ा के बैजनाथ में बीते 24 घंटों के दौरान 85.0 मिमी बारिश दर्ज हुई। हालांकि रविवार को गगल एयरपोर्ट पर सभी विमानों ने उड़ानें भरी हैं। 

छह दिनों तक मौसम खराब
 प्रदेश के कई भागों में छह दिनों तक मौसम खराब रहने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के कई भागों में 5 व 6 सितंबर को भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में 10 सितंबर तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन, सिरमौर व किन्नौर जिले के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। अलर्ट को देखते हुए स्थानीय लोगों व पर्यटकों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी गई है। साथ ही संबंधित विभागों की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करने को कहा गया है। चंबा, कांगड़ा, शिमला व सिरमौर जिले में 5 सितंबर के लिए अचानक बाढ़ के खतरे को लेकर अलर्ट जारी हुआ है। 

प्रदेश के प्रमुख शहरों का तापमान
शिमला में न्यूनतम तापमान 15.0, सुंदरनगर 19.5, भुंतर 19.9, कल्पा 13.0, धर्मशाला 19.4, ऊना 21.4, नाहन 22.7, केलांग 12.0, पालमपुर 17.5, सोलन 18.8, मनाली 16.4, कांगड़ा 21.4, मनाली 20.6, बिलासपुर 23.0, हमीरपुर 20.9, चंबा 21.4, डलहौजी 15.3, पांवटा साहिब 26.0 और कसौली में 19.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, ऊना में अधिकतम तापमान 35.4, डलहौजी 30, चंबा 25.3, केलांग 17.3, कांगड़ा 30.2, धर्मशाला 24.4, पालमपुर 27.1, हमीरपुर 31.7, सुंदरनगर 31.2, बिलासपुर 33.5, कल्पा 22.4, शिमला 25.2, कुफरी 18.8, सोलन 30 और नाहन में 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 
 

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में रविवार को कई क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। वर्षा से हुए भूस्खलन के कारण मंडी-जालंधर और औट-आनी एनएच बाधित रहे। विकास खंड हमीरपुर की ग्राम पंचायत नेरी में एक स्लेट वाला मकान जमींदोज हो गया। मकान के मलबे के नीचे सारा सामान भी दब गया। यह हादसा रविवार तड़के हुआ। परिवार के सदस्यों ने भाग कर अपनी जान बचाई। वहीं, उपमंडल नादौन में अमलैहड़ क्षेत्र के गांव भावड़ा में एक पशुशाला जमींदोज हो गई। राज्य में बारिश से 28 सड़कें बंद रहीं, जबकि बिजली के सात ट्रांसफार्मर ठप रहे।  नेशनल हाईवे-305 औट-आनी रविवार को भूस्खलन के कारण बाधित हो गया। कुल्लू से रवाना हुई निगम की बसों को आधे रास्ते ही वापस आना पड़ा और बस की सवारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

लोगों को कमांद से लेकर शमशर तक उतराई में चलकर पैदल पहुंचना पड़ा। जिले की 12 सड़कों पर यातायात प्रभावित हो गया। वहीं मौसम के कारण जिला में बागवान सेब का तुड़ान भी बागवान नहीं कर पाए हैं। राज्य में 19 बिजली के ट्रांसफार्मर भी जाम हो गए। धर्मपुर क्षेत्र में शनिवार रात को हुई मूसलाधार बारिश से एनएच- 03 जालंधर-मंडी बाया धर्मपुर-कोटली सिंहन के पास भूस्खलन होने से करीब 10 घंटे बाधित रहा। मार्ग को रविवार दोपहर करीब एक बजे यातायात के लिए बहाल कर दिया गया। मार्ग बंद होने के चलते सैकड़ों वाहनों को सड़क के दोनों ओर कतारों में लगे हुए देखा गया। इनमें बैठे लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ी। जिला कांगड़ा के बैजनाथ में बीते 24 घंटों के दौरान 85.0 मिमी बारिश दर्ज हुई। हालांकि रविवार को गगल एयरपोर्ट पर सभी विमानों ने उड़ानें भरी हैं। 

छह दिनों तक मौसम खराब

 प्रदेश के कई भागों में छह दिनों तक मौसम खराब रहने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के कई भागों में 5 व 6 सितंबर को भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में 10 सितंबर तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन, सिरमौर व किन्नौर जिले के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। अलर्ट को देखते हुए स्थानीय लोगों व पर्यटकों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी गई है। साथ ही संबंधित विभागों की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करने को कहा गया है। चंबा, कांगड़ा, शिमला व सिरमौर जिले में 5 सितंबर के लिए अचानक बाढ़ के खतरे को लेकर अलर्ट जारी हुआ है। 

प्रदेश के प्रमुख शहरों का तापमान

शिमला में न्यूनतम तापमान 15.0, सुंदरनगर 19.5, भुंतर 19.9, कल्पा 13.0, धर्मशाला 19.4, ऊना 21.4, नाहन 22.7, केलांग 12.0, पालमपुर 17.5, सोलन 18.8, मनाली 16.4, कांगड़ा 21.4, मनाली 20.6, बिलासपुर 23.0, हमीरपुर 20.9, चंबा 21.4, डलहौजी 15.3, पांवटा साहिब 26.0 और कसौली में 19.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, ऊना में अधिकतम तापमान 35.4, डलहौजी 30, चंबा 25.3, केलांग 17.3, कांगड़ा 30.2, धर्मशाला 24.4, पालमपुर 27.1, हमीरपुर 31.7, सुंदरनगर 31.2, बिलासपुर 33.5, कल्पा 22.4, शिमला 25.2, कुफरी 18.8, सोलन 30 और नाहन में 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here