Home Himachal Pradesh Himachal Pradesh Election 2022 Bjp Congress And Aap Candidates From Dalhousie Assembly...

Himachal Pradesh Election 2022 Bjp Congress And Aap Candidates From Dalhousie Assembly Constituency – हॉट सीट डलहौजी: आप की एंट्री ने रोचक बना दिया मुकाबला, उम्मीदवारों ने झोंकी पूरी ताकत

0
9

डलहौजी विस सीट से प्रत्याशी आशा कुमारी, डीएस ठाकुर, मनीष सरीन, रिंकू, अशोक बकारिया।

डलहौजी विस सीट से प्रत्याशी आशा कुमारी, डीएस ठाकुर, मनीष सरीन, रिंकू, अशोक बकारिया।
– फोटो : संवाद

ख़बर सुनें

विधानसभा चुनाव में जीत के लिए अब प्रत्याशी जीजान से जुट गए हैं। इसके लिए जहां बैठकों का दौर शुरू कर दिया है तो वहीं मतदाताओं को रिझाने के लिए भी हर रणनीति अपना रहे हैं। डलहौजी विस सीट को हथियाने के लिए जहां भाजपा-कांग्रेस के उम्मीदवारों ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है तो वहीं इस बार आप की एंट्री ने मुकाबले को रोचक बना दिया है। भाजपा ने जहां डीएस ठाकुर को चुनाव मैदान में उतारा है तो वहीं कांग्रेस की ओर से नौवां चुनाव लड़ रहीं कांग्रेस से मौजूदा विधायक आशा कुमारी फिर से भाजपा के उम्मीदवार को चुनौती दे रही हैं।

वर्ष 2017 में यहां कांग्रेस को जीत मिली थी। कांग्रेस उम्मीदवार ने इस सीट से भाजपा उम्मीदवार को बेहद कड़े मुकाबले में 556 मतों से हरा दिया था। ऐसे में विधानसभा क्षेत्र डलहौजी को हॉट सीट के रूप में देखा जा रहा है। वहीं इस बार आम आदमी पार्टी ने भी चुनाव मैदान में ताल ठोंक दी है। आप ने मनीष सरीन पर दांव खेला है। भाजपा को छोड़कर राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी में शामिल होने वाले अशोक बकारिया और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में रिंकू चुनावी मैदान में हैं।

ऐसे में भाजपा के लिए कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने के लिए अच्छी खासी जद्दोजहद करनी पड़ेगी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कुल 48.77 फीसदी मतदाताओं ने वोटिंग की थी। कांग्रेस की उम्मीदवार को कुल 48.77 जबकि भाजपा उम्मीदवार को 47.65 फीसदी मत मिले थे। कांग्रेस उम्मीदवार ने 2017 के चुनाव में 24,224 जबकि भाजपा के उम्मीदवार ने 23,668 मत हासिल किए थे। इस प्रकार बेहद नजदीकी मुकाबले में भाजपा उम्मीदवार को कांग्रेस उम्मीदवार ने 556 मतों से मात देते हुए जीत दर्ज की। 

वर्ष 2012 से लगातार डलहौजी पर कांग्रेस का कब्जा
वर्ष 2012 से डलहौजी की सीट पर लगातार कांग्रेस का कब्जा कायम है। वर्ष 2012 में भी कांग्रेस उम्मीदवार आशा कुमारी ने यहां से जीत दर्ज की थी। उन्होंने भाजपा की रेणु चड्ढा को करीब सात हजार मतों के अंतर से शिकस्त दी थी। इस प्रकार 10 वर्षों से लगातार यहां से कांग्रेस विधायक हैं। इसलिए कांग्रेस ने तीसरी बार भी आशा पर ही अपनी आशा जताई है। 

कुल वोटर    75,267 
पुरुष          37,841 
महिला        36,882 

ये उम्मीदवार मैदान हैं में
भाजपा                           डीएस ठाकुर
कांग्रेस                           आशा कुमारी
आप                             मनीष सरीन
राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी    अशोक बकारिया
निर्दलीय                       रिंकू

विस्तार

विधानसभा चुनाव में जीत के लिए अब प्रत्याशी जीजान से जुट गए हैं। इसके लिए जहां बैठकों का दौर शुरू कर दिया है तो वहीं मतदाताओं को रिझाने के लिए भी हर रणनीति अपना रहे हैं। डलहौजी विस सीट को हथियाने के लिए जहां भाजपा-कांग्रेस के उम्मीदवारों ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है तो वहीं इस बार आप की एंट्री ने मुकाबले को रोचक बना दिया है। भाजपा ने जहां डीएस ठाकुर को चुनाव मैदान में उतारा है तो वहीं कांग्रेस की ओर से नौवां चुनाव लड़ रहीं कांग्रेस से मौजूदा विधायक आशा कुमारी फिर से भाजपा के उम्मीदवार को चुनौती दे रही हैं।

वर्ष 2017 में यहां कांग्रेस को जीत मिली थी। कांग्रेस उम्मीदवार ने इस सीट से भाजपा उम्मीदवार को बेहद कड़े मुकाबले में 556 मतों से हरा दिया था। ऐसे में विधानसभा क्षेत्र डलहौजी को हॉट सीट के रूप में देखा जा रहा है। वहीं इस बार आम आदमी पार्टी ने भी चुनाव मैदान में ताल ठोंक दी है। आप ने मनीष सरीन पर दांव खेला है। भाजपा को छोड़कर राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी में शामिल होने वाले अशोक बकारिया और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में रिंकू चुनावी मैदान में हैं।

ऐसे में भाजपा के लिए कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने के लिए अच्छी खासी जद्दोजहद करनी पड़ेगी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कुल 48.77 फीसदी मतदाताओं ने वोटिंग की थी। कांग्रेस की उम्मीदवार को कुल 48.77 जबकि भाजपा उम्मीदवार को 47.65 फीसदी मत मिले थे। कांग्रेस उम्मीदवार ने 2017 के चुनाव में 24,224 जबकि भाजपा के उम्मीदवार ने 23,668 मत हासिल किए थे। इस प्रकार बेहद नजदीकी मुकाबले में भाजपा उम्मीदवार को कांग्रेस उम्मीदवार ने 556 मतों से मात देते हुए जीत दर्ज की। 

वर्ष 2012 से लगातार डलहौजी पर कांग्रेस का कब्जा

वर्ष 2012 से डलहौजी की सीट पर लगातार कांग्रेस का कब्जा कायम है। वर्ष 2012 में भी कांग्रेस उम्मीदवार आशा कुमारी ने यहां से जीत दर्ज की थी। उन्होंने भाजपा की रेणु चड्ढा को करीब सात हजार मतों के अंतर से शिकस्त दी थी। इस प्रकार 10 वर्षों से लगातार यहां से कांग्रेस विधायक हैं। इसलिए कांग्रेस ने तीसरी बार भी आशा पर ही अपनी आशा जताई है। 

कुल वोटर    75,267 

पुरुष          37,841 

महिला        36,882 

ये उम्मीदवार मैदान हैं में

भाजपा                           डीएस ठाकुर

कांग्रेस                           आशा कुमारी

आप                             मनीष सरीन

राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी    अशोक बकारिया

निर्दलीय                       रिंकू

Source link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: