Himachal In The Final Of The Syed Mushtaq Ali Cricket Trophy With A Winning Six – धर्मशाला: जीत के छक्के के साथ सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट ट्रॉफी के फाइनल में हिमाचल

0
7

सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट ट्रॉफी के फाइनल में हिमाचल

सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट ट्रॉफी के फाइनल में हिमाचल
– फोटो : संवाद

ख़बर सुनें

सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट ट्रॉफी में लगातार जीत का छक्का लगाते हुए हिमाचल की टीम ने फाइनल में प्रवेश कर इतिहास रच दिया है। सेमीफाइनल मुकाबले में पंजाब की मजबूत टीम को 13 रन से हराकर हिमाचल फाइनल में पहुंचा। सुमित वर्मा 51, आकाश वशिष्ठ 43, पंकज जयस्वाल 27 की पारियों के बाद ऋषि धवन 3/25 की दमदार गेंदबाजी के दम पर टीम ने जीत दर्ज की। मयंक डागर ने दो, केसी सिंह और आकाश वशिष्ठ ने एक-एक विकेट लेकर जीत की नींव रखी। 5 नवंबर को कोलकाता में फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। सेमीफाइनल मैच में पंजाब ने टॉस जीतकर हिमाचल को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। हिमाचल ने 20 ओवर में सात विकेट खोकर 176 रन बनाए। हिमाचल के 176 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम 20 ओवर में सात विकेट पर 163 रन ही बना पाई। 

बेटियां फाइनल की दौड़ से बाहर
बंगलूरू के चिन्नास्वामी क्रिकेट स्टेडियम में महिला सीनियर टी-20 मैच में हिमाचल की महिला फाइनल की दौड़ से बाहर हो गई। पहले बल्लेबाजी करने उतरी हिमाचल की टीम ने 13 ओवर में चार विकेट पर 79 रन बनाए। बंगाल की टीम ने 4.5 ओवर में तीन विकेट पर 29 रन बना लिए थे। बारिश के कारण मैच रोकना पड़ा। अंकों के आधार पर बंगाल की महिला टीम फाइनल के लिए क्वालीफाई कर गई। एचपीसीए के अध्यक्ष आरपी सिंह और सचिव अवनीश परमार ने कहा कि हिमाचल की पुरुष टीम ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में पहली बार पहुंचकर इतिहास रचा है। महिला टीम का प्रदर्शन भी सराहनीय रहा। 

बीसीसीआई की महिला सीनियर टी-20 ट्रॉफी के सेमीफाइनल में बारिश और एक गेंद कम हिमाचल की बालाओं के साथ खेल कर गई। इससे हिमाचल की महिला टीम का फाइनल में पहुंचने का सपना भी अधूरा रह गया। बंगलूरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में गुरुवार को हिमाचल और बंगाल के बीच सेमीफाइनल मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो पाया। पहले बल्लेबाजी करते हुए हिमाचल टीम ने अभी 11 ओवर ही खेले थे कि बारिश हो गई। इसके बाद मैच शुरू हुआ तो रेफरी ने मैच 13 ओवर का कर दिया। हिमाचल टीम चार विकेट खोकर 13 ओवर में 79 रन ही बना पाई। 

बंगाल टीम ने पांचवें ओवर की अंतिम गेंद से पहले तीन विकेट पर 29 रन बनाए थे कि बारिश के कारण दोबारा मैच को रोकना पड़ा। इसके बाद मैच शुरू नहीं हो पाया। पांचवां ओवर पूरा हो जाता तो डकवर्थ-लुईस नियम लागू होने से हिमाचल टीम जीत सकती थी। इसके बाद सबसे ज्यादा लीग मैच जीतने वाली बंगाल की टीम फाइनल लिए क्वालीफाई कर गई। 

ऐसे बाहर हुई हिमाचल की टीम
हिमाचल टीम छह लीग मैचों में से चार मैच ही खेल पाई थी। पहले दो मैच बारिश के कारण रद्द हो गए थे। अगले चार लीग मैचों में टीम ने तीन मैच जीते थे। दूसरी ओर, बंगाल टीम ने छह लीग मैच खेले थे। इसमें चार मैच जीते थे। लीग मैचों में एक मैच अधिक जीतने के कारण बंगाल टीम फाइनल के क्वालीफाई कर गई। 

बारिश के कारण बंगाल के साथ सेमीफाइनल मैच पूरा नहीं होने से हिमाचल टीम को बाहर होना पड़ा। अगर बारिश खलल नहीं डालती तो हिमाचल की खिलाड़ी मैच में जीत दर्ज कर फाइनल में प्रवेश कर लेेती। हिमाचल की खिलाड़ियों ने प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीता है।– अवनीश परमार, सचिव, हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन 

 उधर, खेलो इंडिया जूनियर महिला वॉलीबाल चैंपियनशिप के दूसरे दिन चार मुकाबले खेले गए। प्रतियोगिता में सात राज्यों की टीमें भाग ले रही हैं। चैंपियनशिप में सभी टीमें लीग मैच खेल रही हैं। दूसरे दिन हिमाचल की टीम ने अपना लीग मैच जीत लिया है। दूसरे दिन के पहले लीग मैच में तमिलनाडु ने गुजरात को 3-0 से हराया। दूसरा मैच हिमाचल और हरियाणा के मध्य खेला गया। इसमें हिमाचल ने हरियाणा को 3-0 से पराजित किया।

तीसरे मैच में केरल ने कर्नाटक को 3-1 से परास्त किया। चौथे मैच में साई की टीम ने गुजरात को 3-0 से हराया। पांचवां मैच कर्नाटक और हरियाणा के मध्य हुआ। देर शाम तक मैच खेला गया। इसमें कर्नाटक ने हरियाणा को 3-1 से हराया। रोहडू स्पोर्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सतीश चौहान ने बताया कि चैंपियनशिप में गुरुवार को पांच मैच खेले गए। प्रतियोगिता का समापन छह नवंबर को होगा। पहली बार हिमाचल में खेलो इंडिया स्पर्धा का आयोजन किया जा रहा है। 

विस्तार

सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट ट्रॉफी में लगातार जीत का छक्का लगाते हुए हिमाचल की टीम ने फाइनल में प्रवेश कर इतिहास रच दिया है। सेमीफाइनल मुकाबले में पंजाब की मजबूत टीम को 13 रन से हराकर हिमाचल फाइनल में पहुंचा। सुमित वर्मा 51, आकाश वशिष्ठ 43, पंकज जयस्वाल 27 की पारियों के बाद ऋषि धवन 3/25 की दमदार गेंदबाजी के दम पर टीम ने जीत दर्ज की। मयंक डागर ने दो, केसी सिंह और आकाश वशिष्ठ ने एक-एक विकेट लेकर जीत की नींव रखी। 5 नवंबर को कोलकाता में फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। सेमीफाइनल मैच में पंजाब ने टॉस जीतकर हिमाचल को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। हिमाचल ने 20 ओवर में सात विकेट खोकर 176 रन बनाए। हिमाचल के 176 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम 20 ओवर में सात विकेट पर 163 रन ही बना पाई। 

बेटियां फाइनल की दौड़ से बाहर

बंगलूरू के चिन्नास्वामी क्रिकेट स्टेडियम में महिला सीनियर टी-20 मैच में हिमाचल की महिला फाइनल की दौड़ से बाहर हो गई। पहले बल्लेबाजी करने उतरी हिमाचल की टीम ने 13 ओवर में चार विकेट पर 79 रन बनाए। बंगाल की टीम ने 4.5 ओवर में तीन विकेट पर 29 रन बना लिए थे। बारिश के कारण मैच रोकना पड़ा। अंकों के आधार पर बंगाल की महिला टीम फाइनल के लिए क्वालीफाई कर गई। एचपीसीए के अध्यक्ष आरपी सिंह और सचिव अवनीश परमार ने कहा कि हिमाचल की पुरुष टीम ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में पहली बार पहुंचकर इतिहास रचा है। महिला टीम का प्रदर्शन भी सराहनीय रहा। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here