Himachal Election 2022: Shimla Urban Constituency 18 Wards Can Decide Who Will Win – Himachal Election: शहरी सीट पर 18 वार्डों के मतदाता तय करते हैं अपना विधायक

0
9

हिमाचल चुवाव 2022

हिमाचल चुवाव 2022
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

 जिले की हॉट सीट शिमला शहरी में इस बार मुकाबला दिलचस्प बना हुआ है। यहां निचले हिमाचल से आकर बसे लोगों के वोट अधिक हैं। बावजूद इसके पिछले तीन चुनाव अपर शिमला से राजधानी में आकर बसे सुरेश भारद्वाज जीतते रहे हैं। इस स्थिति में किसी भी प्रत्याशी के लिए किसी एक विशेष समाज को साध पाना नाकों चने चबाने जैसा है। शिमला शहरी विधानसभा नगर निगम के 18 वार्डों में सिमटी हुई है। शिमला शहरी विधानसभा में 48,279 मतदाता हैं। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 25,173 और महिला मतदाताओं की संख्या 23,106 है।

 कांग्रेस से हरीश जनारथा, भाजपा से संजय सूद और माकपा से टिकेंद्र पवंर प्रत्याशी हैं। आम आदमी पार्टी ने चमन राकेश को यहां से चुनावी मैदान में उतारा है। इसके अलावा आजाद प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में होने से मुकाबले को रोचक बनाए हुए हैं। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 14,012, सीपीआई(एम) को 3,047, कांग्रेस को 2,680 मत मिले थे। हरीश जनारथा चुनावी मैदान में निर्दलीय थे और उन्हें 12,109 वोट मिले थे।

इस बार कांग्रेस, भाजपा और माकपा तीनों ने अपने प्रत्याशी बदले हैं। बीते चुनाव में कांग्रेस से हरभजन सिंह भज्जी थे, अब हरीश जनारथा हैं, वहीं भाजपा टिकट पर लगातार तीन बार जीते शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज की सीट कसुम्पटी विधानसभा बदलकर यहां से संजय सूद को चुनाव में उतारा है। माकपा ने संजय चौहान की जगह टिकेंद्र पंवर को टिकट थमाया है। साल 2012 के विधानसभा चुनाव में टिकेंद्र पवंर ने माकपा से चुनाव लड़कर 8025 वोट हासिल किए थे। भाजपा को 11563 और कांग्रेस को 10935 वोट मिले थे। 

विस्तार

 जिले की हॉट सीट शिमला शहरी में इस बार मुकाबला दिलचस्प बना हुआ है। यहां निचले हिमाचल से आकर बसे लोगों के वोट अधिक हैं। बावजूद इसके पिछले तीन चुनाव अपर शिमला से राजधानी में आकर बसे सुरेश भारद्वाज जीतते रहे हैं। इस स्थिति में किसी भी प्रत्याशी के लिए किसी एक विशेष समाज को साध पाना नाकों चने चबाने जैसा है। शिमला शहरी विधानसभा नगर निगम के 18 वार्डों में सिमटी हुई है। शिमला शहरी विधानसभा में 48,279 मतदाता हैं। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 25,173 और महिला मतदाताओं की संख्या 23,106 है।

 कांग्रेस से हरीश जनारथा, भाजपा से संजय सूद और माकपा से टिकेंद्र पवंर प्रत्याशी हैं। आम आदमी पार्टी ने चमन राकेश को यहां से चुनावी मैदान में उतारा है। इसके अलावा आजाद प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में होने से मुकाबले को रोचक बनाए हुए हैं। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 14,012, सीपीआई(एम) को 3,047, कांग्रेस को 2,680 मत मिले थे। हरीश जनारथा चुनावी मैदान में निर्दलीय थे और उन्हें 12,109 वोट मिले थे।

इस बार कांग्रेस, भाजपा और माकपा तीनों ने अपने प्रत्याशी बदले हैं। बीते चुनाव में कांग्रेस से हरभजन सिंह भज्जी थे, अब हरीश जनारथा हैं, वहीं भाजपा टिकट पर लगातार तीन बार जीते शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज की सीट कसुम्पटी विधानसभा बदलकर यहां से संजय सूद को चुनाव में उतारा है। माकपा ने संजय चौहान की जगह टिकेंद्र पंवर को टिकट थमाया है। साल 2012 के विधानसभा चुनाव में टिकेंद्र पवंर ने माकपा से चुनाव लड़कर 8025 वोट हासिल किए थे। भाजपा को 11563 और कांग्रेस को 10935 वोट मिले थे। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here