Himachal Election 2022, Counting Officers Will Take Over Duty A Day Before, Training Will Be Given In Three Ph – Himachal Election: एक दिन पहले ड्यूटी संभालेंगे मतगणना अधिकारी, तीन चरणों में मिलेगा प्रशिक्षण

0
4

ईवीएम की सुरक्षा के लिए तैनात जवान।

ईवीएम की सुरक्षा के लिए तैनात जवान।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए हुई वोटिंग के बाद मतगणना से पहले अधिकारियों और कर्मचारियों को तीन चरणों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों के मतगणना कें द्रों में एक दिन पहले अधिकारी ड्यूटी संभालेंगे। एक मतगणना केंद्र में सुविधा के अनुसार 10 से 14 तक मतगणना टेबल लगाए जाएंगे। मतगणना केंद्रों में उपलब्ध स्थान के आधार पर मतगणना के लिए टेबल की संख्या घटाई और बढ़ाई जा सकती है। एक मतगणना टेबल में एक सुपरवाइजर और एक सहायक की ड्यूटी लगाई जाएगी। 

चुनाव विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वोटर ज्यादा हुए तो मतगणना केंद्र में ज्यादा संख्या में अधिकारी और कर्मचारी तैनात रहेंगे। इस बार मतगणना केंद्रों में 10 से 14 टेबल मतगणना के लिए लगाई जाएंगी। जिलों के चुनाव अधिकारी तय करेंगे कि प्रत्येक ंमतगणना केंद्र में कितनी मतगणना टेबल लगेंगी। अगर मतगणना केंद्र में खुला स्थान है तो अधिकतम 14 टेबल मतगणना के लिए लगाई जा सकेंगी। इससे यह सुविधा रहेगी कि मतगणना के काम कम से कम समय में पूरा हो सकेगा। अगर मतगणना कें द्र में स्थान की कमी है तो न्यूनतम 10 मेज मतगणना के लिए लगानी होंगी। 

इसके अलावा मतगणना शुरू होने से पहले चुनाव अधिकारी मतगणना करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए तीन चरणों में प्रशिक्षण की व्यवस्था भी करेंगे। इस दौरान इनको बताया जाएगा कि मतगणना से पहले किन बातों का ध्यान रखना है और मतगणना के बाद  सूचना किन अधिकारियों तक पहुंचाई जानी है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी दलीप नेगी के अनुसार मतगणना केंद्रों में मतगणना टेबल की संख्या  स्थान के हिसाब से तय होगी। चुनाव अधिकारी तय करेंगे कि मतगणना के लिए 10 से 14 तक कितनी टेबल लगाई जाएंगी।  मतगणना से पहले अधिकारियों और कर्मचारियों को तीन चरणों में प्रशिक्षण दिया जाना है।

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए हुई वोटिंग के बाद मतगणना से पहले अधिकारियों और कर्मचारियों को तीन चरणों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों के मतगणना कें द्रों में एक दिन पहले अधिकारी ड्यूटी संभालेंगे। एक मतगणना केंद्र में सुविधा के अनुसार 10 से 14 तक मतगणना टेबल लगाए जाएंगे। मतगणना केंद्रों में उपलब्ध स्थान के आधार पर मतगणना के लिए टेबल की संख्या घटाई और बढ़ाई जा सकती है। एक मतगणना टेबल में एक सुपरवाइजर और एक सहायक की ड्यूटी लगाई जाएगी। 

चुनाव विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वोटर ज्यादा हुए तो मतगणना केंद्र में ज्यादा संख्या में अधिकारी और कर्मचारी तैनात रहेंगे। इस बार मतगणना केंद्रों में 10 से 14 टेबल मतगणना के लिए लगाई जाएंगी। जिलों के चुनाव अधिकारी तय करेंगे कि प्रत्येक ंमतगणना केंद्र में कितनी मतगणना टेबल लगेंगी। अगर मतगणना केंद्र में खुला स्थान है तो अधिकतम 14 टेबल मतगणना के लिए लगाई जा सकेंगी। इससे यह सुविधा रहेगी कि मतगणना के काम कम से कम समय में पूरा हो सकेगा। अगर मतगणना कें द्र में स्थान की कमी है तो न्यूनतम 10 मेज मतगणना के लिए लगानी होंगी। 

इसके अलावा मतगणना शुरू होने से पहले चुनाव अधिकारी मतगणना करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए तीन चरणों में प्रशिक्षण की व्यवस्था भी करेंगे। इस दौरान इनको बताया जाएगा कि मतगणना से पहले किन बातों का ध्यान रखना है और मतगणना के बाद  सूचना किन अधिकारियों तक पहुंचाई जानी है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी दलीप नेगी के अनुसार मतगणना केंद्रों में मतगणना टेबल की संख्या  स्थान के हिसाब से तय होगी। चुनाव अधिकारी तय करेंगे कि मतगणना के लिए 10 से 14 तक कितनी टेबल लगाई जाएंगी।  मतगणना से पहले अधिकारियों और कर्मचारियों को तीन चरणों में प्रशिक्षण दिया जाना है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here