Himachal Election 2022, Big Statement Of Mangal Pandey, Said That Government Made Up Its Mind To Implement Ops – Himachal: कांग्रेस, आप के बाद अब भाजपा ने भी खेला ओल्ड पेंशन स्कीम का दांव

0
16

भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी मंगल पांडे

भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी मंगल पांडे
– फोटो : संवाद

ख़बर सुनें

भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी व हिमाचल के पूर्व प्रभारी मंगल पांडे ने हिमाचल प्रदेश के सराज विधानसभा क्षेत्र के बालीचौकी में ओपीएस को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र बालीचौकी में जनसभा में कहा कि मैं यह जिम्मेदारी के साथ कहता हूं कि भाजपा सरकार ने प्रदेश में ओपीएस लागू करने को मन बना लिया है और कमेटी भी गठित कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश की जयराम सरकार ही कर्मचारियों को ओल्ड पेंशन स्कीम के दायरे में लाएगी। कांग्रेस और आप के बाद अब पुरानी पेंशन स्कीम (ओपीएस) के मुद्दे पर भाजपा ने भी दांव चला है।

बालीचौकी में हिमाचल प्रदेश भाजपा के पूर्व प्रभारी मंगल पांडे के पुरानी पेंशन देने का मन होने के बयान देने के बाद इस मुद्दे को और हवा मिल गई है। कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद पहली कैबिनेट बैठक में ही पुरानी पेंशन की बहाली करने का ऐलान किया है। आप ने पंजाब के बाद इसे हिमाचल प्रदेश में भी देने की घोषणा कर दी है, वहीं भाजपा भी कर्मचारियों को अपने पक्ष में करने के लिए इस मुद्दे को इन दोनों दलों से छीनने का प्रयास कर रही है। कुछ दिन पहले शिमला में भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता अपराजिता सारंगी ने भी कहा था कि भाजपा की ओपीएस के बारे में सकारात्मक मनोवृत्ति है और इसे समीक्षा के बाद ही इसे लागू करने का विचार होगा। 

विस्तार

भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी व हिमाचल के पूर्व प्रभारी मंगल पांडे ने हिमाचल प्रदेश के सराज विधानसभा क्षेत्र के बालीचौकी में ओपीएस को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र बालीचौकी में जनसभा में कहा कि मैं यह जिम्मेदारी के साथ कहता हूं कि भाजपा सरकार ने प्रदेश में ओपीएस लागू करने को मन बना लिया है और कमेटी भी गठित कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश की जयराम सरकार ही कर्मचारियों को ओल्ड पेंशन स्कीम के दायरे में लाएगी। कांग्रेस और आप के बाद अब पुरानी पेंशन स्कीम (ओपीएस) के मुद्दे पर भाजपा ने भी दांव चला है।

बालीचौकी में हिमाचल प्रदेश भाजपा के पूर्व प्रभारी मंगल पांडे के पुरानी पेंशन देने का मन होने के बयान देने के बाद इस मुद्दे को और हवा मिल गई है। कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद पहली कैबिनेट बैठक में ही पुरानी पेंशन की बहाली करने का ऐलान किया है। आप ने पंजाब के बाद इसे हिमाचल प्रदेश में भी देने की घोषणा कर दी है, वहीं भाजपा भी कर्मचारियों को अपने पक्ष में करने के लिए इस मुद्दे को इन दोनों दलों से छीनने का प्रयास कर रही है। कुछ दिन पहले शिमला में भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता अपराजिता सारंगी ने भी कहा था कि भाजपा की ओपीएस के बारे में सकारात्मक मनोवृत्ति है और इसे समीक्षा के बाद ही इसे लागू करने का विचार होगा। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here