Himachal Election 2022 Analysis Of Bumper Voting In Hot Seats – Himachal Election: हॉट सीटों पर बंपर वोटिंग के निकाले जा रहे अलग-अलग मायने

0
5

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विधानसभा चुनाव में लोग हॉट सीटों पर बंपर वोटिंग के अलग-अलग मायने निकाले जा रहे हैं। इसे कहीं बड़े नेता के समर्थन में हुआ मतदान बताया जा रहा है तो कहीं मौजूदा विधायक के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर (एंटी इनकंबेंसी) का असर माना जा रहा है। इस बार सीएम जयराम ठाकुर, मंत्री गोविंद ठाकुर, डॉ. राजीव सैजल और वीरेंद्र कंवर के अलावा नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के हलकों में जबरदस्त मतदान हुआ है। 

प्रदेश में करीब 75 फीसदी मतदान हुआ है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के विधानसभा क्षेत्र सराज में 82.10 प्रतिशत मत पड़े हैं। कांग्रेस से उनके खिलाफ इस बार भी चेतराम ठाकुर ने चुनाव लड़ा। उनसे जयराम वर्ष 2017 के विस चुनाव में 11,254 मतों से जीते थे। 2012 में उनके खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी तारा ठाकुर खड़ी थीं। इनसे जयराम 5,752 मतों से जीते थे। जयराम के खिलाफ सराज में एक माकपा, एक  आप, एक बसपा और एक निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में है। 

शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर की सीट मनाली में 79.48 प्रतिशत मत पडे़ हैं। यहां गोविंद के खिलाफ कांग्रेस के अलावा भुवनेश्वर गौड़ समेत आप, बसपा आदि के पांच प्रत्याशी हैं। 2017 में गोविंद ठाकुर मनाली से कांग्रेस प्रत्याशी हरिचंद शर्मा से 3,005 मतों से जीते थे।

2012 में कांग्रेस प्रत्याशी भुवनेश्वर गौड़ से 3,198 मतों से जीते थे। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल की सीट कसौली में 78.28 प्रतिशत वोट पड़े हैं। 2017 में डॉ. सैजल कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी से महज 442 मतों से जीते थे। 2012 में भी वह विनोद सुल्तानपुरी से महज 24 मतों से जीते थे। इस बार भी दोनों आमने-सामने हैं। इस सीट पर इस बार सात उम्मीदवार मैदान में हैं। 

पंचायतीराज मंत्री वीरेंद्र कंवर के विधानसभा क्षेत्र कुटलैहड़ में 76.82 प्रतिशत मतदान हुआ है। कंवर के खिलाफ कुटलैहड़ में कांग्रेस उम्मीदवार देवेंद्र कुमार हैं। 2017 के चुनाव में उन्होंने कांग्र्रेस प्रत्याशी विवेक शर्मा को 5,606 मतों से हराया था। 2012 के चुनाव में वीरेंद्र कंवर ने कांग्रेस के रामदास को 1,662 मतों से हराया था। कुटलैहड़ में इस बार एक आप और एक निर्दलीय प्रत्याशी भी मैदान में है। 

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के हलके हरोली में 78.13 प्रतिशत मतदान हुआ है। मुकेश के खिलाफ चार उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा है। इनमें भाजपा से पिछली बार की तरह प्रो. राम कुमार प्रत्याशी हैं। उनसे मुकेश 2017 के विधानसभा चुनाव में 7,377 मतों के मार्जिन से जीते थे। आप और बसपा से भी प्रत्याशी हैं। मुकेश 2012 में भी प्रो. राम कुमार से 5,172 मतों से जीते थे।

विस्तार

विधानसभा चुनाव में लोग हॉट सीटों पर बंपर वोटिंग के अलग-अलग मायने निकाले जा रहे हैं। इसे कहीं बड़े नेता के समर्थन में हुआ मतदान बताया जा रहा है तो कहीं मौजूदा विधायक के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर (एंटी इनकंबेंसी) का असर माना जा रहा है। इस बार सीएम जयराम ठाकुर, मंत्री गोविंद ठाकुर, डॉ. राजीव सैजल और वीरेंद्र कंवर के अलावा नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के हलकों में जबरदस्त मतदान हुआ है। 

प्रदेश में करीब 75 फीसदी मतदान हुआ है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के विधानसभा क्षेत्र सराज में 82.10 प्रतिशत मत पड़े हैं। कांग्रेस से उनके खिलाफ इस बार भी चेतराम ठाकुर ने चुनाव लड़ा। उनसे जयराम वर्ष 2017 के विस चुनाव में 11,254 मतों से जीते थे। 2012 में उनके खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी तारा ठाकुर खड़ी थीं। इनसे जयराम 5,752 मतों से जीते थे। जयराम के खिलाफ सराज में एक माकपा, एक  आप, एक बसपा और एक निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में है। 

शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर की सीट मनाली में 79.48 प्रतिशत मत पडे़ हैं। यहां गोविंद के खिलाफ कांग्रेस के अलावा भुवनेश्वर गौड़ समेत आप, बसपा आदि के पांच प्रत्याशी हैं। 2017 में गोविंद ठाकुर मनाली से कांग्रेस प्रत्याशी हरिचंद शर्मा से 3,005 मतों से जीते थे।

2012 में कांग्रेस प्रत्याशी भुवनेश्वर गौड़ से 3,198 मतों से जीते थे। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल की सीट कसौली में 78.28 प्रतिशत वोट पड़े हैं। 2017 में डॉ. सैजल कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी से महज 442 मतों से जीते थे। 2012 में भी वह विनोद सुल्तानपुरी से महज 24 मतों से जीते थे। इस बार भी दोनों आमने-सामने हैं। इस सीट पर इस बार सात उम्मीदवार मैदान में हैं। 

पंचायतीराज मंत्री वीरेंद्र कंवर के विधानसभा क्षेत्र कुटलैहड़ में 76.82 प्रतिशत मतदान हुआ है। कंवर के खिलाफ कुटलैहड़ में कांग्रेस उम्मीदवार देवेंद्र कुमार हैं। 2017 के चुनाव में उन्होंने कांग्र्रेस प्रत्याशी विवेक शर्मा को 5,606 मतों से हराया था। 2012 के चुनाव में वीरेंद्र कंवर ने कांग्रेस के रामदास को 1,662 मतों से हराया था। कुटलैहड़ में इस बार एक आप और एक निर्दलीय प्रत्याशी भी मैदान में है। 

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के हलके हरोली में 78.13 प्रतिशत मतदान हुआ है। मुकेश के खिलाफ चार उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा है। इनमें भाजपा से पिछली बार की तरह प्रो. राम कुमार प्रत्याशी हैं। उनसे मुकेश 2017 के विधानसभा चुनाव में 7,377 मतों के मार्जिन से जीते थे। आप और बसपा से भी प्रत्याशी हैं। मुकेश 2012 में भी प्रो. राम कुमार से 5,172 मतों से जीते थे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here