Five Including Three Punjabis Arrested In Canada With Drugs Worth One And Half Crores – Punjab: कनाडा में 15.5 करोड़ की ड्रग के साथ तीन पंजाबियों समेत पांच गिरफ्तार, लंबे समय से कर रहे थे ये काम

0
18

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

कनाडा की पील क्षेत्रीय पुलिस ने अमेरिकी पुलिस की सहायता से सीमा क्षेत्र से 25 लाख डॉलर (15.50 करोड़ रुपये) की ड्रग की खेप के साथ पांच तस्करों को गिरफ्तार किया है, जिसमें तीन पंजाब मूल के युवक हैं। तीनों पंजाबी लंबे समय से यहां ड्रग्स का धंधा कर रहे थे। पील पुलिस टोरंटो के साथ लगते मिसी सागा व ब्रैंप्टन इलाके में तैनात है।

कनाडा की पील पुलिस के डिप्टी चीफ निक मिलोविच ने बताया कि जो पकड़े गए पंजाबियों की पहचान 38 वर्षीय गुरप्रीत सिंह गाखल, 28 वर्षीय जसप्रीत सिंह और 27 वर्षीय राजिंदर सिंह बोपाराय के रूप में हुई है। दो अन्य तस्करों में पाकिस्तानी मूल का खलीलुल्लाह अमीन और चीनी नागरिक रे आईपी है। पील पुलिस के डिप्टी चीफ निक मिलोविच ने बताया कि पील क्षेत्र के इतिहास में यह अब तक की पकड़ी गई नशे की सबसे बड़ी खेप है।

ट्रकों में सब्जियों के बीच ड्रग की खेप भेजी जाती थी अमेरिका
जानकारी के मुताबिक ट्रकों में सामान व सब्जियों के बीच छिपाकर ड्रग की खेप अमेरिका भी भेजी जाती थी।  इसके बारे में अमेरिकन एफबीआई को भी पुख्ता सूचना मिली थी। अमेरिकन एफबीआई और कनाडा की पील पुलिस के बीच यह जानकारी साझा की गई। पुलिस के मुताबिक इसमें एक बड़ी लॉजिस्टिक कंपनी और एक फर्नीचर कंपनी के प्रबंधक भी शामिल हैं। 

पिछले साल कनाडा में गिरफ्तार हुए थे 25 तस्कर
पिछले साल ही कनाडा में 25 तस्करों का गैंग गिरफ्तार हुआ था, जिसको गुरबख्श सिंह ग्रेवाल, सुखवंत बराड़, परमिंदर गिल, हरबलजीत सिंह तूर, अमरबीर सिंह सरकारिया, हरबिंदर कौर भुल्लर आदि चला रहे थे, जिनको कनाडा की आरसीएमपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इतना ही नहीं, इनके तार पंजाब में हाईप्रोफाइल भोला ड्रग रैकेट से जुड़े हुए थे, जिसमें बिक्रम सिंह मजीठिया को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में कनाडा के रहने वाले सत्ता व पिंदरी के मजीठिया से निकट संबंध थे।

विस्तार

कनाडा की पील क्षेत्रीय पुलिस ने अमेरिकी पुलिस की सहायता से सीमा क्षेत्र से 25 लाख डॉलर (15.50 करोड़ रुपये) की ड्रग की खेप के साथ पांच तस्करों को गिरफ्तार किया है, जिसमें तीन पंजाब मूल के युवक हैं। तीनों पंजाबी लंबे समय से यहां ड्रग्स का धंधा कर रहे थे। पील पुलिस टोरंटो के साथ लगते मिसी सागा व ब्रैंप्टन इलाके में तैनात है।

कनाडा की पील पुलिस के डिप्टी चीफ निक मिलोविच ने बताया कि जो पकड़े गए पंजाबियों की पहचान 38 वर्षीय गुरप्रीत सिंह गाखल, 28 वर्षीय जसप्रीत सिंह और 27 वर्षीय राजिंदर सिंह बोपाराय के रूप में हुई है। दो अन्य तस्करों में पाकिस्तानी मूल का खलीलुल्लाह अमीन और चीनी नागरिक रे आईपी है। पील पुलिस के डिप्टी चीफ निक मिलोविच ने बताया कि पील क्षेत्र के इतिहास में यह अब तक की पकड़ी गई नशे की सबसे बड़ी खेप है।

ट्रकों में सब्जियों के बीच ड्रग की खेप भेजी जाती थी अमेरिका

जानकारी के मुताबिक ट्रकों में सामान व सब्जियों के बीच छिपाकर ड्रग की खेप अमेरिका भी भेजी जाती थी।  इसके बारे में अमेरिकन एफबीआई को भी पुख्ता सूचना मिली थी। अमेरिकन एफबीआई और कनाडा की पील पुलिस के बीच यह जानकारी साझा की गई। पुलिस के मुताबिक इसमें एक बड़ी लॉजिस्टिक कंपनी और एक फर्नीचर कंपनी के प्रबंधक भी शामिल हैं। 

पिछले साल कनाडा में गिरफ्तार हुए थे 25 तस्कर

पिछले साल ही कनाडा में 25 तस्करों का गैंग गिरफ्तार हुआ था, जिसको गुरबख्श सिंह ग्रेवाल, सुखवंत बराड़, परमिंदर गिल, हरबलजीत सिंह तूर, अमरबीर सिंह सरकारिया, हरबिंदर कौर भुल्लर आदि चला रहे थे, जिनको कनाडा की आरसीएमपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इतना ही नहीं, इनके तार पंजाब में हाईप्रोफाइल भोला ड्रग रैकेट से जुड़े हुए थे, जिसमें बिक्रम सिंह मजीठिया को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में कनाडा के रहने वाले सत्ता व पिंदरी के मजीठिया से निकट संबंध थे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here