Christian Community Protested In Ludhiana Against Tarn Taran Incident – चर्च में बेअदबी का मामला: तरनतारन की घटना के विरोध में लुधियाना में ईसाई समुदाय ने निकाला रोष मार्च

0
10

ख़बर सुनें

तरनतारन में चर्च में तोड़फोड़ की घटना का विरोध जारी है। रविवार को ईसाई समुदाय के लोगों ने दुकानें और बाजार बंद करवा कर जालंधर बाईपास से जगरांव पुल तक रोष मार्च निकाला और घटना की कड़ी निंदा की। ईसाई समुदाय ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। इस दौरान जब ईसाई समुदाय के लोग जालंधर बाईपास के पास पुतला जलाने लगे तो एसीपी ने पुतला अपने कब्जे में लेकर उसे गाड़ी में रख लिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों का रोष और भी ज्यादा बढ़ गया और पुलिस के खिलाफ ही प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी कर दी।

किसी तरह से प्रदर्शनकारियों को शांत कर वहां से भेजा। ईसाई समुदाय के रोष प्रदर्शन में 300 से भी अधिक लोगों ने सलेम टाबरी चर्च से जगरांव पुल तक रोष मार्च निकाला है। ईसाई समुदाय का कहना है कि एक सोची समझी साजिश के तहत और पंजाब का माहौल खराब करने की मंशा से इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। 

उन्होने मांग की है कि सरकार जल्द से जल्द आरोपियों को काबू कर सजा दिलाए। इसी घटना को लेकर कुछ दिन पहले पंजाब के एडीजीपी (कानून-व्यवस्था) प्रवीण सिन्हा खुद लुधियाना पहुंचे थे। उन्होंने सभी धार्मिक स्थलों का दौरा किया था और प्रबंधकों के साथ बैठक भी की थी। इस दौरान उन्होंने ईसाई समुदाय के लोगों से भी मुलाकात की थी। उन्होंने तरनतारन घटना की निंदा भी की थी और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन भी दिया था।

विस्तार

तरनतारन में चर्च में तोड़फोड़ की घटना का विरोध जारी है। रविवार को ईसाई समुदाय के लोगों ने दुकानें और बाजार बंद करवा कर जालंधर बाईपास से जगरांव पुल तक रोष मार्च निकाला और घटना की कड़ी निंदा की। ईसाई समुदाय ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। इस दौरान जब ईसाई समुदाय के लोग जालंधर बाईपास के पास पुतला जलाने लगे तो एसीपी ने पुतला अपने कब्जे में लेकर उसे गाड़ी में रख लिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों का रोष और भी ज्यादा बढ़ गया और पुलिस के खिलाफ ही प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी कर दी।

किसी तरह से प्रदर्शनकारियों को शांत कर वहां से भेजा। ईसाई समुदाय के रोष प्रदर्शन में 300 से भी अधिक लोगों ने सलेम टाबरी चर्च से जगरांव पुल तक रोष मार्च निकाला है। ईसाई समुदाय का कहना है कि एक सोची समझी साजिश के तहत और पंजाब का माहौल खराब करने की मंशा से इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। 

उन्होने मांग की है कि सरकार जल्द से जल्द आरोपियों को काबू कर सजा दिलाए। इसी घटना को लेकर कुछ दिन पहले पंजाब के एडीजीपी (कानून-व्यवस्था) प्रवीण सिन्हा खुद लुधियाना पहुंचे थे। उन्होंने सभी धार्मिक स्थलों का दौरा किया था और प्रबंधकों के साथ बैठक भी की थी। इस दौरान उन्होंने ईसाई समुदाय के लोगों से भी मुलाकात की थी। उन्होंने तरनतारन घटना की निंदा भी की थी और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन भी दिया था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here