Cbi Arrests Ludhiana Based Company Director In Over Rs 1500 Cr Bank Fraud Case – 1500 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी: पंजाब में Cbi का बड़ा एक्शन, टेक्सटाइल्स कंपनी के निदेशक को पकड़ा

0
19

सांकेतिक तस्वीर।

सांकेतिक तस्वीर।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में 1530.99 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में लुधियाना स्थित एसईएल टेक्सटाइल्स के निदेशक नीरज सलूजा को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि सलूजा को शनिवार को मोहाली की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। सीबीआई ने छह अगस्त 2020 को बैंक की शिकायत पर कंपनी के निदेशकों समेत फैब्रिक निर्माण कंपनी पर मामला दर्ज किया था। कंपनी की पंजाब के मलोट और नवांशहर, राजस्थान के निमराना और हरियाणा के हांसी में निर्माण इकाईयां हैं।

सीबीआई प्रवक्त ने कहा कि आरोप है कि आरोपी ने बड़ी मात्रा में बैंक ऋण अपने संबंधित पक्षों को दिया और बाद में समायोजन प्रविष्टियां की गईं। यह भी आरोप है कि आरोपियों ने गैर-प्रतिष्ठित आपूर्तिकर्ताओं से मशीनरी की खरीद दिखाई थी और बिलों का अधिक चालान किया था। जांच के दौरान कई लोगों से पूछताछ की गई और सही से जवाब न देने पर आरोपी सलूजा को गिरप्तार किया गया है। 

विस्तार

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में 1530.99 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में लुधियाना स्थित एसईएल टेक्सटाइल्स के निदेशक नीरज सलूजा को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि सलूजा को शनिवार को मोहाली की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। सीबीआई ने छह अगस्त 2020 को बैंक की शिकायत पर कंपनी के निदेशकों समेत फैब्रिक निर्माण कंपनी पर मामला दर्ज किया था। कंपनी की पंजाब के मलोट और नवांशहर, राजस्थान के निमराना और हरियाणा के हांसी में निर्माण इकाईयां हैं।

सीबीआई प्रवक्त ने कहा कि आरोप है कि आरोपी ने बड़ी मात्रा में बैंक ऋण अपने संबंधित पक्षों को दिया और बाद में समायोजन प्रविष्टियां की गईं। यह भी आरोप है कि आरोपियों ने गैर-प्रतिष्ठित आपूर्तिकर्ताओं से मशीनरी की खरीद दिखाई थी और बिलों का अधिक चालान किया था। जांच के दौरान कई लोगों से पूछताछ की गई और सही से जवाब न देने पर आरोपी सलूजा को गिरप्तार किया गया है। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here