Canada Did Not Listen To Indian Students, Six Months Wasted – Jalandhar: कनाडा सरकार ने नहीं दिया स्टडी वीजा, हजारों विद्यार्थियों के छह माह खराब, अब जनवरी से लगाएंगे क्लास

0
9

ख़बर सुनें

कनाडा सरकार ने भारतीय विद्यार्थियों की पुकार नहीं सुनी है और हजारों विद्यार्थियों को सितंबर माह में शुरू होने वाले सेशन के लिए वीजा नहीं दिया है। नतीजतन, विद्यार्थियों ने अब कॉलेजों से तालमेल कर तय किया है कि वह जनवरी माह के सेशन में स्टडी के लिए आएंगे। छह माह का समय उन भारतीय विद्यार्थियों का खराब हो गया है, जिनको स्टडी वीजा का इंतजार था। कॉलेजों में छह सितंबर से क्लासें शुरू हो रही हैं और एक लाख के करीब स्टूडेंट्स का आवेदन सितंबर के सेशन के लिए था, लेकिन कनाडा दूतावास ने काफी कम भारतीय स्टूडेंट्स को वीजा जारी किया है।

हालांकि ओटावा में भारतीय उच्चायोग ने कनाडा के अधिकारियों से भारत के स्टूडेंट्स के लिए वीजा आवेदन के प्रोसेसिंग में तेजी लाने का आग्रह किया था। उन्होंने प्राधिकरण को यह भी सूचित किया कि भारतीय स्टूडेंट्स ने पहले ही ट्यूशन फीस जमा कर दी है। फिर भी वीजा जारी होने की रफ्तार काफी कम है। विद्यार्थियों की सांसें अटकी हुई हैं। अब लाखों रुपये फीस जमा करवा चुके स्टूडेंट्स अपना सेमेस्टर जनवरी माह में तबदील करने लगे हैं।

सितंबर में शुरू करनी थी क्लास, टिकट भी बुक करवाई थी

स्थानीय बस्तियान इलाके के रहने वाले एक विद्यार्थी ने सितंबर माह में कनाडा में कॉलेज में रिपोर्ट करनी थी, जिसके लिए फीस भी जमा करवाई जा चुकी थी और एक सितंबर की एयर टिकट भी बुक थी लेकिन स्टडी वीजा नहीं आया। अब विद्यार्थी ने जनवरी माह में अपना सेशन बदल दिया है। भरे मन से उसने कहा कि मेरा एक साल खराब हो गया है।

स्टूडेंट्स काफी डिप्रेशन में हैं : मंजीत कौर

वीजा काउंसलर मंजीत कौर का कहना है कि इस समय बच्चे काफी डिप्रेशन में हैं। एक साल खराब हो रहा है, उनकी चिंता जायज भी है। कनाडा की तरफ से स्टडी वीजा जारी करने में काफी देरी की जा रही है, जिससे काफी नुकसान हो रहा है।

विस्तार

कनाडा सरकार ने भारतीय विद्यार्थियों की पुकार नहीं सुनी है और हजारों विद्यार्थियों को सितंबर माह में शुरू होने वाले सेशन के लिए वीजा नहीं दिया है। नतीजतन, विद्यार्थियों ने अब कॉलेजों से तालमेल कर तय किया है कि वह जनवरी माह के सेशन में स्टडी के लिए आएंगे। छह माह का समय उन भारतीय विद्यार्थियों का खराब हो गया है, जिनको स्टडी वीजा का इंतजार था। कॉलेजों में छह सितंबर से क्लासें शुरू हो रही हैं और एक लाख के करीब स्टूडेंट्स का आवेदन सितंबर के सेशन के लिए था, लेकिन कनाडा दूतावास ने काफी कम भारतीय स्टूडेंट्स को वीजा जारी किया है।

हालांकि ओटावा में भारतीय उच्चायोग ने कनाडा के अधिकारियों से भारत के स्टूडेंट्स के लिए वीजा आवेदन के प्रोसेसिंग में तेजी लाने का आग्रह किया था। उन्होंने प्राधिकरण को यह भी सूचित किया कि भारतीय स्टूडेंट्स ने पहले ही ट्यूशन फीस जमा कर दी है। फिर भी वीजा जारी होने की रफ्तार काफी कम है। विद्यार्थियों की सांसें अटकी हुई हैं। अब लाखों रुपये फीस जमा करवा चुके स्टूडेंट्स अपना सेमेस्टर जनवरी माह में तबदील करने लगे हैं।

सितंबर में शुरू करनी थी क्लास, टिकट भी बुक करवाई थी

स्थानीय बस्तियान इलाके के रहने वाले एक विद्यार्थी ने सितंबर माह में कनाडा में कॉलेज में रिपोर्ट करनी थी, जिसके लिए फीस भी जमा करवाई जा चुकी थी और एक सितंबर की एयर टिकट भी बुक थी लेकिन स्टडी वीजा नहीं आया। अब विद्यार्थी ने जनवरी माह में अपना सेशन बदल दिया है। भरे मन से उसने कहा कि मेरा एक साल खराब हो गया है।

स्टूडेंट्स काफी डिप्रेशन में हैं : मंजीत कौर

वीजा काउंसलर मंजीत कौर का कहना है कि इस समय बच्चे काफी डिप्रेशन में हैं। एक साल खराब हो रहा है, उनकी चिंता जायज भी है। कनाडा की तरफ से स्टडी वीजा जारी करने में काफी देरी की जा रही है, जिससे काफी नुकसान हो रहा है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here