5वीं तक स्कूल बंद, ट्रकों की एंट्री बैन; SC में होगी सुनवाई | Delhi Air Pollution Update | Diesel Vehicles Entry Ban, Schools Closed In Noida

0
11

  • Hindi News
  • National
  • Delhi Air Pollution Update | Diesel Vehicles Entry Ban, Schools Closed In Noida

नई दिल्ली29 मिनट पहले

दिल्ली में दिवाली के बाद से प्रदुषण का स्तर बढ़ रहा है। वहीं, नवंबर की शुरुआत से ही घना कोहरा छाया हुआ है। लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है।

दिल्ली में सांस लेना मुश्किल हो गया है। शुक्रवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 472 तक पहुंच गया। पूरी दिल्ली में घना कोहरा छाया हुआ है। AQI हवा की क्वालिटी मापने का पैमाना है, 450 से ऊपर होने पर इसे बेहद गंभीर माना जाता है यानी फेफड़ों के लिए खतरनाक। बढ़ते प्रदूषण के कारण नोएडा प्रशासन ने शुक्रवार से 8वीं तक के बच्चों की क्लासेस ऑनलाइन लेने का फैसला किया है। वहीं, दिल्ली में शनिवार से प्राइमरी स्कूल बंद रहेंगे। केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया।

प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। इस मामले पर 10 नवंबर को सुनवाई होगी। हवा खराब होने कारण दिल्ली में ग्रेैप की चौथी स्टेज लागू हो गई है। इसके तहत एयर क्वालिटी मैनेजमेंट कमिशन ने दिल्ली-NCR में डीजल से चलने वाले वाहनों पर रोक लगा दी है। हालांकि, CNG और इलेक्ट्रिक वाहनों पर कोई बैन नहीं है। इस खबर को आगे पढ़ने से पहले हमारे पोल पर आप अपनी राय दे सकते हैं…

दिल्ली के इन इलाकों में AQI 400 के पार
दिल्ली के आंनद विहार में AQI 473, मुंडका में AQI 476, वजीरपुर में AQI 475, नरेला में AQI 477, जहांगीरपुरी में AQI 485, रोहिणी में AQI 474, विवेक विहार में AQI 475, नजफगढ़ में AQI 481, इंडिया गेट पर AQI 448, IGI एयरपोर्ट पर AQI 453, अशोक विहार में AQI 471, सोनिया विहार में AQI 473, अलीपुर में AQI 476, आईटीओ पर AQI 444, मंदिर मार्ग पर AQI 374 एक्यूआई दर्ज हुआ है। वहीं, दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) के पास 563 AQI दर्ज किया गया।

दिल्ली-NCR में AQI और एयर पॉल्यूशन की 4 तस्वीरें…

दिल्ली सरकार जल्द ऑड-इवन फार्मूला लागू कर सकती है।

दिल्ली सरकार जल्द ऑड-इवन फार्मूला लागू कर सकती है।

दिल्ली में नवंबर की शुरुआत से ही घना कोहरा छाया हुआ है।

दिल्ली में नवंबर की शुरुआत से ही घना कोहरा छाया हुआ है।

सरकार ने जरूरी सेवाएं प्रदान करने वाले डीजल वाहनों को छूट दी है।

सरकार ने जरूरी सेवाएं प्रदान करने वाले डीजल वाहनों को छूट दी है।

घने कोहरे के कारण ट्रेन धीरे चल रही हैं, जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है।

घने कोहरे के कारण ट्रेन धीरे चल रही हैं, जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है।

सरकार ने क्या कदम उठाए…

  • कमीशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट (CAQM) ने ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (ग्रैप) की चौथी स्टेज लागू कर दी गई है।
  • दिल्ली-NCR में कमर्शियल निर्माण कार्यों पर रोक लगाई गई है।
  • दिल्ली में प्राइमरी स्कूल शनिवार से बंद रहेंगे और 5वीं से ऊपर की क्लास की आउटडोर एक्टिविटी बंद रहेगी।
  • सेंट्रल पैनल एयर क्वालिटी मैनेजमेंट कमीशन ने दिल्ली-NCR में डीजल के चार पहिया वाहनों, ट्रकों की एंट्री पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं।
  • कमर्शियल निर्माण कार्यों पर रोक लगाई गई है।
  • हाईवे, फ्लाईओवर, पावर ट्रांसमिशन, ओवरब्रिज और पाइपलाइन के निर्माण बंद कर दिए गए हैं।

ऐहतियातन क्या किया जा रहा है…
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में प्रशासन की ओर से शुक्रवार से कक्षा एक से लेकर आठ तक के बच्चों की क्लासेस ऑनलाइन लेने का फैसला किया है। गौतम बौद्ध नगर के जिला विद्यालय निरीक्षक धर्मवीर सिंह ने 9वीं से 12वीं तक की क्लास भी ऑनलाइन चलाने का आदेश दिया है। 8 नवंबर तक सभी स्कूलों में खेल या बैठक जैसी एक्टिविटी पूरी तरह प्रतिबंधित रहेंगी।

अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ी
प्रदूषण बढ़ने से अस्पतालों की ओपीडी में सांस के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। पहले ओपीडी में हर रोज 20-25 सांस के मरीज आते थे, यह संख्या अब बढ़कर 70-75 हो गई है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने दिल्ली सरकार से स्कूलों को बंद करने का आग्रह किया है।

53% लोगों ने पराली जलाने को प्रदूषण का कारण बताया
लोकल सर्कल के सर्वे के अनुसार, दिल्ली-NCR के 53% लोगों का कहना है कि पराली जलाना प्रदूषण बढ़ने का प्रमुख कारण है। 20 हजार लोगों पर किए गए सर्वे में 13% ने प्रदूषण के लिए वाहनों को जिम्मेदार माना। वहीं, 56% लोग दिल्ली में ऑड-इवन फॉर्मूला लागू करने का विरोध कर रहे हैं।

प्रदूषित हवा से गर्भपात का भी खतरा: डॉ. गुलेरिया
प्रदूषित हवा से सिर्फ सांस संबंधी बीमारियां ही नहीं बल्कि हार्ट और ब्रेन स्ट्रोक के साथ ही गर्भपात का भी खतरा बढ़ गया है। दिल्ली एम्स के पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि द लैंसेट की स्टडी बताती है कि वायु प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी में होने से गर्भवती के सांस लेने का असर भ्रूण पर होता है। इससे भ्रूण का विकास कम हाेता है, साथ ही गर्भपात का खतरा भी बढ़ता है।

एम्स रुमेटोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ. उमा कुमार ने बताया, प्रदूषण बढ़ने से गठिया मरीजों की परेशानी बढ़ जाती है। जिनमें गठिया का लक्षण नहीं होता, उनके खून के नमूनों में ऑटो एंटीबॉडी पॉजिटिव मिला। ऐसे लोगों की संख्या 18% थी। अब इस प्रकार के रोगियों पर दोबारा से अध्ययन किया जाएगा।

दिल्ली पॉल्यूशन से जुड़ी यह खबरें भी पढ़ें…

केंद्रीय मंत्री ने दिल्ली को बताया गैस चेंबर:केजरीवाल बोले- केंद्र सरकार बस केस करवाती है

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर केंद्र सरकार और आम आदमी पार्टी आमने-सामने हैं। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने बुधवार को AAP सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आप की वजह से दिल्ली ‘गैस चेंबर’ बन चुकी है। इस पर पटलवार करते हुए दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार हमारे नेताओं पर केस करवाती है। बस सहयोग नहीं करती। पढ़ें पूरी खबर…

दिल्ली में सांस लेना फिर मुश्किल, 418 तक पहुंचा AQI

पराली जलने और गाड़ियों से हो रहे प्रदूषण की वजह से गुरुवार सुबह दिल्ली का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (AQI) 418 तक पहुंच गया। आंनद विहार में AQI 449, मुंडका में AQI 422, वजीरपुर में AQI 434, नरेला में AQI 429, बवाना में AQI 447, अलीपुर में AQI 419, अशोक विहार में AQI 433, जहांगीरपुरी में AQI 455 और इंडिया गेट AQI 419 दर्ज किया गया है। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here