सिसोदिया के घर 6 घंटे से CBI मौजूद, मोबाइल-लैपटॉप जब्त; आप कार्यकर्ता हिरासत में | Manish Sisodia Corruption | Delhi Excise Scam Case CBI Raids Updates

0
12

15 मिनट पहले

दिल्ली की आबकारी नीति मामले में डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के आवास समेत 21 जगहों पर CBI की छापेमारी चल रही है। जांच एजेंसी सुबह 8.30 बजे ही सिसोदिया के घर पहुंच गई थी। तब से सरकारी आवास (ए विंग दिल्ली सचिवालय) में तलाशी जारी है। खबरों के मुताबिक, अफसरों ने उनके और परिवार के बाकी सदस्यों के फोन और लैपटॉप जब्त कर लिए गए हैं।

इस कार्रवाई के बाद AAP और BJP आमने-सामने आ गई है। AAP ने कहा कि यह कार्रवाई केजरीवाल को रोकने के लिए की गई। उधर, भाजपा का आरोप है कि पंजाब चुनाव से पहले केजरीवाल और शराब माफिया में डील हुई थी।

CBI ने FIR दर्ज की, सिसोदिया के अलावा 4 और लोगों के नाम
एक्साइज के डिप्टी कमिश्नर रहे आनंद तिवारी, तत्कालीन आबकारी आयुक्त अरवा गोपी कृष्ण, कुलजीत सिंह, सुभाष रंजन के घर पर भी CBI की टीम ने छापा मारा। शराब नीति घोटाले के आरोप को लेकर CBI ने FIR दर्ज की, सूत्रों के मुताबिक इसमें सिसोदिया के अलावा 4 और लोगों के नाम हैं।

छापे के दौरान CBI टीम।

छापे के दौरान CBI टीम।

सुबह 8.32 बजे: छापे शुरू होते ही सिसोदिया ने 3 ट्वीट किए, कहा- स्वागत है

सिसोदिया ने लिखा- CBI आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्य कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है, उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश नंबर वन नहीं बन पाया है।

मनीष सिसोदिया ने सुबह 8:32 बजे एक के बाद एक तीन ट्वीट के जरिए अपने घर पर CBI के आने और उन्हें परेशान करने की बात लिखी है।

मनीष सिसोदिया ने सुबह 8:32 बजे एक के बाद एक तीन ट्वीट के जरिए अपने घर पर CBI के आने और उन्हें परेशान करने की बात लिखी है।

सुबह 11 बजे: संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा- मोदीजी केजरीवाल को रोक नहीं पाएंगे

राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल 3 बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने। पंजाब गए तो वहां प्रचंड बहुमत से AAP की सरकार बनी। पूरे देश में केजरीवाल का शिक्षा और स्वास्थ्य का मॉडल पहुंच रहा है। देश में केजरीवाल के नाम पर लोग जुड़ रहे हैं, लोकप्रियता बढ़ रही है। दो दिन पहले भारत को दुनिया का नंबर वन देश बनाने का अभियान उन्होंने शुरू किया, देश के हर हिस्से से लोग जुड़ रहे हैं।

1. नरेंद्र मोदीजी को नींद नहीं आती: संजय सिंह ने कहा, ‘केजरीवाल चुनाव जीत रहे हैं, लोकप्रियता बढ़ रही है। इसका कारण दिल्ली का स्वास्थ्य और शिक्षा का मॉडल। इससे नरेंद्र मोदीजी को नींद नहीं आती है। एक ही चिंता लगी रहती है कि कैसे केजरीवाल को रोकना है। शिक्षा और स्वास्थ्य के मॉडल को रोकना है।’

2. दिल्ली मॉडल दुनियाभर में लोकप्रिय हो रहा: संजय सिंह ने कहा, ‘मोदीजी को बताना चाहता हूं कि न केजरीवाल रुकने वाले हैं और न शिक्षा-स्वास्थ्य का मॉडल। मोहल्ला क्लीनिक का मॉडल जिसने पूरी दुनिया को दिया, उस स्वास्थ्य मंत्री को आपने जेल में डाल दिया। अब शिक्षा मंत्री को जेल में डालने की तैयारी है। शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में दिल्ली मॉडल लोकप्रिय हो रहा है। अमेरिका का वो अखबार मोदी सरकार के बारे में छापता है कि कोरोना काल में लाखों की जान गई। वही न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार कल मनीष सिसोदिया की फोटो के साथ दिल्ली के शिक्षा मॉडल, शिक्षा क्रांति की चर्चा करता है।’

सुबह 11.20 बजे: भाजपा का पलटवार, कहा- पंजाब चुनाव से पहले डील हुई
भाजपा ने आरोप लगाया कि शराब लाइसेंसधारियों का कमीशन बढ़ा दिया। शराब कंपनियों के 144 करोड़ माफ कर दिए। ड्राई डे कम कर दिए। पंजाब चुनाव से पहले शराब माफियाओं और केजरीवाल की डील हुई थी कि फायदा पहुंचाओगे तो पंजाब चुनाव में मदद करेंगे। पहले रेवन्यू 6 हजार करोड़ रुपया था, वो 5 हजार करोड़ से कम हो गया। दुकानें ढाई सौ से बढ़ाकर 800 से ज्यादा कर दी गईं।

CBI की टीम मनीष सिसोदिया के घर सुबह 8 बजे पहुंच गई थी।

CBI की टीम मनीष सिसोदिया के घर सुबह 8 बजे पहुंच गई थी।

दोपहर 12 बजे: केजरीवाल ने कहा- यह पहली रेड नहीं, अभी बहुत अड़चनें आएंगी
CM अरविंद केजरीवाल ने कहा- देश 75 सालों की आजादी के बाद भी इतना पिछड़ा क्यों है? अगर हमने इन्हीं पार्टियों और नेताओं के भरोसे देश को छोड़ा तो अगले 75 साल तक भी ऐसे ही पिछड़े रहेंगे। ये पहली रेड नहीं है, मनीष पर पिछले 7 साल में कई छापे मारे गए। पहले भी कुछ नहीं बिगड़ा, आगे भी नहीं बिगड़ने वाला। अड़चनें आएंगी, लेकिन हमारा काम नहीं रुकेगा। आज मैं एक नंबर जारी कर रहा हूं- 9510001000 जो लोग इस मिशन में जुड़ना चाहते हैं, जो देश को सर्वश्रेष्ठ राष्ट्र देखना चाहते हैं, वे इस नंबर का उपयोग करें। प्रचार करें। हमें 130 करोड़ लोगों को इस मिशन से जोड़ना है।

छापे के तुरंत बाद केजरीवाल ने यह ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने अमेरिका के एक अखबार में सिसोदिया को लेकर छपी खबर का जिक्र किया।

छापे के तुरंत बाद केजरीवाल ने यह ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने अमेरिका के एक अखबार में सिसोदिया को लेकर छपी खबर का जिक्र किया।

दोपहर 1:30 बजे: सिसोदिया के घर के बाहर लगी 144
सिसोदिया के घर CBI के छापे की खबर सामने आते ही बड़ी संख्या में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता उनके घर के बाहर पहुंच गए। हालांकि, इन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और सिसोदिया के घर के आस-पास धारा 144 लगा दी है।

मुख्य सचिव की रिपोर्ट में था सिसोदिया का नाम
दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना के कहने पर यह CBI जांच शुरू की गई है। मुख्य सचिव नरेश कुमार की रिपोर्ट में कहा गया था कि नई नीति के जरिए शराब लाइसेंसधारियों को फायदा पहुंचाया गया। रिपोर्ट में सीधे मनीष सिसोदिया का नाम लिया गया था। यह रिपोर्ट LG को सौंपी गई थी। पढ़ें पूरी खबर…

NYT की रिपोर्ट में दिल्ली की शिक्षा नीति की तारीफ
न्यूयॉर्क टाइम्स के इंटरनेशनल प्रिंट एडिशन में 18 अगस्त को फ्रंट पेज पर दिल्ली की शिक्षा नीति पर रिपोर्ट पब्लिश की गई। इसमें मनीष सिसोदिया की स्कूल विजिट की फोटो है। रिपोर्ट में शिक्षा नीति की तारीफ की गई है।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने 18 अगस्त को दिल्ली के सरकारी स्कूलों पर ये रिपोर्ट पब्लिश की।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने 18 अगस्त को दिल्ली के सरकारी स्कूलों पर ये रिपोर्ट पब्लिश की।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले जहां दिल्ली के सरकारी स्कूलों की पहचान जर्जर इमारतें, खराब इलेक्ट्रिसिटी सुविधा, मिस-मैनेजमेंट था, वहां अब तस्वीर बदल गई है। केजरीवाल सरकार ने स्कूलों की ये तस्वीर बदलने में बड़ा बजट खर्च किया है। रिपोर्ट में अच्छी शिक्षा व्यवस्था में आए बदलावों का जिक्र कुछ स्टूडेंट्स की जुबानी भी किया गया है।

नवंबर 2021 में लागू की नई शराब नीति
2020 में दिल्ली सरकार ने नई शराब नीति लाने की बात कही थी। मई 2020 में दिल्ली सरकार विधानसभा में नई शराब नीति लेकर आई, जिसे नवंबर 2021 से लागू कर दिया गया।

मुख्य सचिव की जांच रिपोर्ट में सरकार पर लगे 4 कानून तोड़ने के आरोप

मुख्य सचिव नरेश कुमार की रिपोर्ट में कहा गया कि शराब नीति को लागू करने से पहले प्रस्तावित नीति को कैबिनेट के समक्ष रखना होता है। इसके बाद कैबिनेट से पास इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए उपराज्यपाल को भेजना होता है, लेकिन इस प्रोसेस को नहीं अपनाया गया है। रिपोर्ट में 4 नियमों को तोड़ने के आरोप लगे।

1. GNCTD अधिनियम 1991

2. व्यापार नियमों के लेनदेन (TOBR)-1993

3. दिल्ली उत्पाद शुल्क अधिनियम-2009

4. दिल्ली उत्पाद शुल्क नियम-2010 ​

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here