यूक्रेन के खेरसॉन को रूसी सैनिकों ने किया खाली, जेलेंस्की ने कहा- युद्ध खत्म होने का इशारा

0
5

हाइलाइट्स

रूसी सेना खेरसॉन शहर से वापस लौट चुकी है.
यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने रूसी सेना के इस कदम को युद्ध समाप्ति का इशारा बताया.
रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस शहर पर करीब आठ महीने से रूसी सेना का कब्जा था.

खेरसॉन. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने खेरसॉन से रूसी सेना की वापसी को सोमवार को ‘युद्ध समाप्ति की शुरूआत’ बताया. उन्होंने देश के इस दक्षिणी शहर में यूक्रेनी सैनिकों से भी मुलाकात की. रूसी सैनिकों को शहर पर कब्जा छोड़ने के लिए मजबूर करने वाले यूक्रेन के पलटवार के बाद खेरसॉन के मुक्त होने का दावा किया जा रहा है. रूस के साथ करीब नौ महीने से जारी युद्ध में इसे यूक्रेन की अब तक की एक सबसे बड़ी सफलता माना जा रहा है.

जेलेंस्की ने कहा कि देश की मजबूत सेना रूसी आक्रमण के बाद से रूस द्वारा कब्जे में लिये गये क्षेत्रों को लगातार मुक्त करा रही है. साथ ही, उन्होंने इसमें आई मुश्किलों और बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने की बात भी स्वीकार की. यूक्रेन की सेना ने अपने जवाबी हमलों के जरिये देश में तीन बड़े क्षेत्रों को अब तक मुक्त करा लेने का दावा किया है. इन क्षेत्रों में कीव के उत्तर का इलाका, खारकीव का उत्तर-पूर्व का इलाका और अब खेरसॉन तथा इसके आसपास की कई बस्तियां शामिल हैं.

वीडियो फुटेज में देखा जा सकता है कि जेलेंस्की एक अपार्टमेंट की खिड़की से उनका अभिवादन कर रहे लोगों को धन्यवाद दे रहे हैं. रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने खेरसॉन की जेलेंस्की की यात्रा पर टिप्पणी करने से सोमवार को इनकार करते हुए कहा कि आप जानते हैं कि यह क्षेत्र रूसी संघ का हिस्सा है. यूक्रेनी मीडिया के अनुसार रूसी कब्जे से मुक्त कराए जाने के बाद राष्ट्रपति वोलादिमीर जेलेंस्की ने खेरसॉन का दौरा किया.

रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस शहर पर करीब आठ महीने से रूसी सेना का कब्जा था. रूस ने इस बड़े शहर में अपनी मजबूत पकड़ छोड़ दी. रूस ने जब 24 फरवरी को यूक्रेन पर आक्रमण किया था, तो खेरसॉन सबसे पहले उसके कब्जे में आने वाले स्थानों में एक था.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here