मोदी मीटिंग में पहुंचे; पूर्व CM समेत 3 बड़े नेताओं का चुनाव लड़ने से इनकार | Modi reached the meeting; 3 big leaders including former CM refuse to contest elections

0
4

  • Hindi News
  • National
  • Modi Reached The Meeting; 3 Big Leaders Including Former CM Refuse To Contest Elections

अहमदाबाद\ नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गुजरात विधानसभा चुनाव में टिकटों के बंटवारे को लेकर दिल्ली में भाजपा सेंट्रल इलेक्शन कमेटी (CEC) की मीटिंग शुरू हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बैठक में पहुंचे हैं। मीटिंग से पहले गुजरात से बड़ी खबर सामने आई है। पूर्व मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, पूर्व डिप्टी CM नितिन पटेल और सीनियर विधायक भूपेंद्र सिंह चुड़ास्मा ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है।

देर रात हो सकता है टिकटों का ऐलान
इधर, देर शाम दिल्ली में भाजपा सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की मीटिंग शुरू हो गई। मीटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा, महाराष्ट्र के डिप्टी CM देवेंद्र फडणवीस समेत कमेटी के सभी सदस्य पार्टी हेड क्वार्टर पहुंच चुके हैं। देर रात तक टिकटों का ऐलान हो सकता है।

पूर्व सीएम रूपाणी और नितिन पटेल हुए दरकिनार?
रूपाणी और नितिन पटेल ने अपने चुनाव न लड़ने के पीछे युवाओं को मौका देना वजह बताया है। लेकिन, ऐसी चर्चाएं हैं कि पार्टी ने इन दोनों नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी देकर विधानसभा चुनाव से दूर किया है। विजय रूपाणी को पंजाब की जिम्मेदारी दी गई थी। अब नितिन पटेल को भी दूसरे राज्य में बड़ी जिम्मेदारी देकर गुजरात चुनाव से दूर रखा जाएगा।

बीजेपी नेता बी. एल संतोष गांधीनगर भी जा रहे हैं। डेमेज कंट्रोल के लिए बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में बदलाव किया गया है। कोर कमेटी में पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को नियुक्त किया गया है। आरसी फल्दू, भूपेंद्र सिंह समेत छह सदस्यों को जोड़ा गया है।

विजय रूपाणी का जन्म रंगून में हुआ था। उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद कांग्रेसियों ने उनकी नागरिकता का मुद्दा बनाया था।

विजय रूपाणी का जन्म रंगून में हुआ था। उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद कांग्रेसियों ने उनकी नागरिकता का मुद्दा बनाया था।

रूपाणी ने सीनियर नेताओं को भेजा लेटर
गुजरात के पूर्व CM विजय रूपाणी ने पार्टी के सीनियर लीडर्स को लेटर भेजकर कहा- सभी के सहयोग से पांच साल CM के रूप में काम किया। इन चुनावों में नए कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी जाए। मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। पार्टी द्वारा चुने गए उम्मीदवार को जिताने के लिए काम करूंगा।

दो बार सीएम रहे विजय रूपाणी
विजय रूपाणी ने 7 अगस्त 2016 को पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। 2017 का चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा गया था। तब भाजपा ने 99 सीटें जीती थीं। रूपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

नितिन पटेल गुजरात में वित्त, स्वास्थ्य, कृषि, राजस्व, सिंचाई और शहरी विकास मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

नितिन पटेल गुजरात में वित्त, स्वास्थ्य, कृषि, राजस्व, सिंचाई और शहरी विकास मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

नितिन पटेल के हाथ से 4 बार निकला CM बनने का मौका
गुजरात के दो बार रहे पूर्व डिप्टी CM रहे नितिन पटेल वित्त, स्वास्थ्य, कृषि, राजस्व, सिंचाई और शहरी विकास मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। उनके हाथ से चार बार गुजरात का मुख्यमंत्री बनने का मौका हाथ से निकला है। पहली बार 2014 में जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने। उस समय गुजरात CM के लिए उनका नाम चल रहा था, लेकिन पार्टी ने आनंदीबेन पटेल को मुख्यमंत्री बनाया।

इसके बाद 2015-16 के पाटीदार आंदोलन के बाद जब आनंदीबेन पटेल को CM पद से हटाया गया, तब भी उनका नाम उछला। लेकिन, विजय रूपाणी को मुख्यमंत्री बनाया गया। 2017 का चुनाव परिणाम उम्मीद के अनुरूप नहीं आने के बाद ऐसा लग रहा था कि अब नितिन पटेल का CM बनना तय है, लेकिन रूपाणी दोबारा CM बने। इसके 2021 में बीजेपी ने विजय रूपाणी को हटाकर भूपेंद्र पटेल को मुख्यमंत्री बना दिया। तब भी उनका नाम चर्चाओं में था।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here