Home World मिखाइल गोर्बाचेव के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होंगे व्लादिमीर पुतिन, अस्पताल...

मिखाइल गोर्बाचेव के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होंगे व्लादिमीर पुतिन, अस्पताल जाकर दी श्रद्धांजलि

0
12

हाइलाइट्स

गोर्बाचेव ने बिना युद्ध किए ही शीत युद्ध को कराया था खत्म
सोवियत संघ के 8वें और आखिरी राष्ट्रपति थे मिखाइल गोर्बाचेव
ग्लासनोस्त यानी अभिव्यक्ति की आजादी की नीति का किया समर्थन

मॉस्को. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) अपने पहले से तय कार्यक्रम के कारण सोवियत संघ (USSR) के पूर्व राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचेव (Mikhail Gorbachev) के सप्ताहांत में होने वाले अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होंगे. हालांकि, उन्होंने दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि दी है. रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन ने गुरुवार को यह जानकारी दी. क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने बताया कि पुतिन मॉस्को के उस अस्पताल में गए, जहां गोर्बाचेव का पार्थिव शरीर रखा गया है.

यह पूछे जाने पर कि क्या गोर्बाचेव का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा, क्रेमलिन के प्रवक्ता पेस्कोव ने कहा कि अंतिम संस्कार में ‘ऑनरेरी गार्ड’ और अन्य औपचारिकताओं समेत राजकीय सम्मान के ‘तत्व’ होंगे.

सोवियत संघ के पूर्व राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचेव का सोमवार को निधन हो गया. 91 साल के गोर्बाचेव लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. उन्होंने बिना युद्ध किए ही शीत युद्ध को खत्म करा दिया था, यानी बिना खून खराबे के कोल्ड वॉर खत्म करवाया था. हालांकि, वो सोवियत संघ के पतन को रोक नहीं पाए थे. मिखाइल सोवियत संघ के 8वें और आखिरी राष्ट्रपति थे. गोर्बाचेव सोवियत संघ के एक बेहद प्रभावशाली नेता थे. उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था.

पुतिन के साथ अच्छे नहीं थे संबंध
गोर्बाचेव विवादास्पद व्यक्ति रहे. पुतिन के साथ उनके संबंध अच्छे नहीं थे. पुतिन सोवियत संघ के टूटने को ट्रैजडी मानते हैं. इसके लिए गोर्बाचेव को जिम्मेदार ठहराया जाता रहा है. पुतिन के साथ कई रूसी नेता ये मानते हैं कि सोवियत संघ के टूट जाने के बाद रूस कमजोर पड़ा गया और उसकी अर्थव्यवस्था गिर गई. इस समय रूस आर्थिक संकट का सामना कर रहा था.

1990 में दिया गया नोबल प्राइज
गोर्बाचेव ने ग्लासनोस्त यानी अभिव्यक्ति की आजादी की नीति का भी समर्थन किया. सोवियत संघ के बिखरने के बाद गोर्बाचेव ने रूसी मीडिया और कला जगत को आजादी दी थी. उन्होंने सरकार पर कम्यूनिस्ट पार्टी की पकड़ ढीली करने के लिए कई क्रांतिकारी सुधार किए. उसी दौरान हजारों पॉलिटिकल प्रिजनर्स और कम्युनिस्ट शासन के आलोचकों को भी जेल से रिहा किया गया था. गोर्बाचेव ने अमेरिका के साथ न्यूक्लियर डिस्आर्मामेंट एग्रीमेंट किया था. कोल्ड वॉर शांतिपूर्वक खत्म करने के लिए उन्हें 1990 में नोबेल प्राइज भी दिया गया था.

Tags: Vladimir Putin

Source link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: