मंकीपॉक्सः इंसान से जानवर में संक्रमण का पहला दुर्लभ मामला, कुत्ते के साथ क्वारंटाइन थे मरीज

0
13

हाइलाइट्स

कुत्ते में संक्रमण के 12 दिन बाद दिखने लगे थे घाव और फुंसी जैसे लक्षण
संक्रमितों को अपने पालतू जानवरों के साथ संपर्क न करने के निर्देश
फ्रांस में अपने डॉगी के साथ क्वारंटीन थे 2 संक्रमित पुरुष, गाइडलाइन जारी

पेरिस. फ्रांस में दुनिया का पहला इंसान से जानवर में फैलने वाला मंकीपॉक्स का मामला सामने आया है. द हिल की रिपोर्ट के मुताबिक एक मेडिकल जर्नल ने मंकीपॉक्स वायरस के मानव से पालतू जानवरों में फैलने के पहले संदिग्ध मामले के साक्ष्य प्रकाशित किए हैं. मेडिकल जर्नल द लैंसेट के अनुसार, फ्रांस में दो पुरुषों के साथ रहने वाले एक कुत्ते में वायरस से संक्रमित होने के 12 दिन बाद लक्षण दिखने लगे हैं.

4 वर्षीय इस कुत्ते के पेट पर घाव और फुंसी जैसे लक्षण दिखने के बाद कराये गए परीक्षण में मंकीपॉक्स होने की पुष्टि हुई है. डीएनए परीक्षण के माध्यम से, शोधकर्ता इस नतीजे पर पहुंचे कि दोनों पुरुषों और कुत्ते को संक्रमित करने वाला वायरस मंकीपॉक्स ही है. खबर के अनुसार मंकीपॉक्स होने के बाद से दोनों पुरुष अपने कुत्ते के साथ क्वारंटाइन हो गए थे. कुत्ता उन्हीं के साथ बेड पर सोता था, जो अब इस बीमारी से ग्रसित है.

घटना के बाद से रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने अपने मंकीपॉक्स गाइडेंस में मानव से पालतू जानवरों में होने वाले संक्रमण के खिलाफ चेतावनी दी है. CDC द्वारा प्रसारित की गई गाइडलाइन के मुताबिक संक्रमित जानवर लोगों में और संक्रमित इंसान जानवरों में मंकीपॉक्स वायरस फैला सकते हैं.

साथ ही लोगों को सलाह दी गई है कि वे अपने पालतू जानवरों के साथ गतिविधियों से बचें, जिसमें पेटिंग, गले लगाना, चुंबन, सोने की जगहों को और भोजन को साझा करना शामिल हैं.

Tags: France, Monkeypox

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here