बंद मुट्ठियां, रुंधा गला! रूसी सैनिकों की वापसी के बाद कुछ ऐसा था माहौल, महीनों बाद देखा एक-दूसरे का चेहरा

0
7

हाइलाइट्स

जब रूस ने फरवरी में आक्रमण किया, तो कई परिवार टूट गए.
अब कई लोग कई महीनों में पहली बार एक-दूसरे को देख रहे हैं.
खेरसॉन में रूसी सैनिक पीछे हटे हैं.

खेरसॉन. रिश्तेदार एक-दूसरे को सड़क के बीच गले लगा रहे थे. इस दौरान उनकी मुट्ठियां बंद थीं और गला रुंधा हुआ था. सभी अपने आंसुओं को संभालने की कोशिश कर रहे थे. सभी इसी क्षण के लिए तरस रहे थे. मौका था दक्षिणी यूक्रेन में अपने गांवों से रूसी सैनिकों के हटने के बाद अपने प्रियजनों के साथ फिर से मिलने का. कुछ लोग तो इस दौरान अपने घरों के बाहर चिल्लाने लगे थे.

न्यूज एजेंसी AP के अनुसार जब रूस ने फरवरी में आक्रमण किया, तो कई परिवार टूट गए. क्योंकि कुछ गांव छोड़कर भाग गए और अन्य कहीं छुप गए थे. अब कई लोग कई महीनों में पहली बार एक-दूसरे को देख रहे हैं. यह तब हुआ है जब रूसी सैनिक पीछे हटे हैं. एक यूक्रेनी जवाबी कार्रवाई के बीच मास्को खेरसॉन, मायकोलाइव और ब्लैक सी से पीछे हट गया है. सबसे महत्वपूर्ण वापसी खेरसॉन शहर से ही हुई है.

हाल की रूसी सैनिकों की वापसी के बाद यूक्रेन के कुछ सैनिकों ने आसपास के गांवों से भी वापसी की. एसोसिएटेड प्रेस ने इस सप्ताह ऐसे चार गांवों का दौरा किया और देखा कि लोग रिश्तेदारों के साथ फिर से जुड़ गए हैं. एंड्री माजुरीक ने कहा कि यह सिर्फ एक विस्फोट है. 53 वर्षीय एंड्री ने अप्रैल में अपनी मां को उसके गांव त्सेंट्रलने में छोड़ दिया और करीब 30 किलोमीटर (18 मील) दूर भाग गया था. उसकी मां उसे छोड़ना नहीं चाहती थी, लेकिन माजुरीक का एक बेटा यूक्रेन की सेना में है और वह चिंतित था कि रूसी उसे मार डालेंगे. उन्होंने कहा कि भले ही कब्जे वाले सैनिकों ने लोगों के फोन जब्त कर लिए हों, लेकिन माजुरीक अपनी मां और अन्य रिश्तेदारों से लगभग रोजाना बात करने में कामयाब रहे क्योंकि वह गुप्त रूप से फोन करते थे.

पढ़ें-अब समय आ गया… जेलेंस्की ने G20 नेताओं से कहा- यूक्रेन-रूस युद्ध समाप्त कराया जाए

स्थानीय अधिकारियों के अनुसार, फरवरी से अब तक आधे मिलियन से अधिक लोग मायकोलाइव और खेरसॉन क्षेत्रों से भाग गए हैं. हालांकि सटीक संख्या की गणना करना कठिन है. यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है कि इसमें से कितने लौटे हैं. जबकि माजुरीक जैसे कुछ लोगों के पास घर लौटने के लिए कुछ ही दूरी तय करने के लिए थी.

Tags: Russia ukraine war, Ukraine

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here