प्रियंका चोपड़ा का छलका दर्द, पहली बार बताई बॉलीवुड छोड़ने की असली वजह, मजबूरी में लिया था फैसला

0
83

बॉलीवुड से हॉलीवुड का सफर यूं तो कई भारतीय सितारे कर चुके हैं, लेकिन ग्लोबल स्टार बन चुकीं भारत की ‘देसी गर्ल’ यानी एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने सालों बाद अपना वो दर्द बयां किया है, जिसके बारे में शायद आजतक उनके सारे फैंस अनजान थे. प्रियंका के फैंस ने हमेशा से इसबात को जानना चाहा कि आखिर क्यों प्रियंका ने बॉलीवुड से दूर हॉलीवुड में काम की तलाश शुरू की? प्रियंका बॉलीवुड की बड़ी एक्ट्रेसेस में से एक थीं, फिर क्यों उन्होंने अमेरिका में अपने संगीत करियर को एक शॉट देने का फैसला किया. लोगों के मन में सालों से उमड़ रहे सवालों पर एक्ट्रेस ने चुप्पी तोड़ी है और उन्होंने ऐसा करने के पीछे जो कारण बताए हैं, वो वाकई में हैरान कर देने वाले हैं.

‘फैशन’, ‘सात खून माफ’, ‘कमीने’, ‘बर्फी’, ‘अंदाज’ और ‘एतराज’ जैसी कई हिट फिल्म देने के बाद अचानक प्रियंका चोपड़ा का बॉलीवुड को छोड़ हॉलीवुड की राह पकड़ लेने वाला फैसला फैंस को हैरान करने वाला था. ऐसा उन्होंने क्यों किया? इसका जवाब एक्ट्रेस ने करीब 10 साल बाद दिया है. उन्होंने वो राज खोले, जिसको सुनने के बाद आप भी दंग रह जाएंगे.

पहली बार बॉलीवुड टू हॉलीवुड पर की बात
‘देसी गर्ल इन दिनों अपनी सीरीज ‘सिटाडेल’ को सुर्खियों में हैं. हाल ही में उन्होंने डेक्स शेफर्ड के साथ पॉडकास्ट शो ‘आर्मचेयर एक्सपर्ट’ में अपने उस फैसले का जिक्र किया, जिसने हर किसी को हैरान कर दिया था. उन्होंने बॉलीवुड छोड़ हॉलीवुड में काम की तलाश क्यों शुरू की. प्रियंका ने बताया, बॉलीवुड इसलिए छोड़ा क्योंकि मुझे मनचाहा काम नहीं मिल रहा था और मिल रहा था उससे मैं खुश नहीं थी.

कैसे मिला था हॉलीवुड का पहला ऑफर
इस बातचीत के दौरान उन्होंने ये कबूल किया कि वो पहली बार बॉलीवुड टू हॉलीवुड पर बात करने जा रही हैं, क्योंकि इस बातचीत में वह थोड़ी ‘सुरक्षित’ महसूस कर रही थीं. उन्होंने बताया, ‘देसी हिट्स’ की अंजलि आचार्य ने उन्हें एक बार एक म्यूजिक वीडियो में देखा और फोन किया. ये बात उस दौरान की है, जब प्रियंका ‘सात खून माफ’ की शूटिंग कर रही थीं. अंजलि ने प्रियंका से पूछा कि क्या वह अमेरिका में अपना म्यूजिक करियर बनाने में दिलचस्पी रखती हैं?

बॉलीवुड पॉलिटिक्स से थक गई थीं प्रियंका
प्रियंका ने बचाया, ये वो दौर था जब मैं बॉलीवुड से निकलने की फिराक में थी और इस इंडस्ट्री से निकलने के लिए कोई रास्ता खोज रही थी. अपनी इस मजबूरी के पीछे की कारण भी उन्होंने बताया और कहा, ‘तब मुझे इंडस्ट्री (बॉलीवुड) में एक कोने में धकेला जा रहा था. लोग मुझे कास्ट नहीं कर रहे थे. मुझे लोगों से शिकायत थी. मैं वो गेम खेलने में अच्छी नहीं हूं. मैं उस तरह की पॉलिटिक्स से थक गई थी और मुझे एक ब्रेक की जरूरत थी और इस म्यूजिक ने मुझे दुनिया के दूसरे हिस्से में जाने का मौका दिया.’

जब कहा था, ‘जो करना है करो, मैं चली अमेरिका’
‘देसी गर्ल’ ने आगे कहा, ‘ उन फिल्मों के लिए नहीं तरसती थी, जिन्हें मैं नहीं करना चाहती थी. लेकिन मुझे कुछ क्लब और लोगों के कुछ गुटों को आकर्षित करने की आवश्यकता होगी और इसके लिए मेहनत भी करनी होगी. इसलिए मैंने तब काफी समय तक काम किया था. मुझे ऐसा नहीं लगा कि मैं इसे करना चाहती हूं. इसलिए जब म्यूजिक का ऑफर आया तो मैंने कहा, ‘जो करना है करो, मैं चली अमेरिका.’

2012 में किया था हॉलीवुड का रुख
प्रियंका चोपड़ा ने अमेरिका में काम की शुरुआत म्यूजिक के साथ की थी. साल 2012 में उन्होंने अपना पहला इंग्लिश गाना ‘इन माय सिटी’ लॉन्च किया था. इस गाने में उनके साथ इंटरनेशनल सिंगर पिटबुल भी थे, लेकिन उनका म्यूजिक करियर नहीं चला. इसके बाद किसी ने प्रियंका चोपड़ा को सुझाव दिया कि वह अमेरिका में एक्टिंग में भी ट्राई करें. प्रियंका ने कोशिश जारी रखी और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा.

Tags: Priyanka Chopra

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here