पूर्व CM बेअंत सिंह का हत्यारा 17 दिसंबर को लाया जाएगा चंडीगढ़ | Terrorist Jagtar Singh Hawar in Burail jail Chandigarh latest news

0
6

चंडीगढ़6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के हत्यादोषी बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) के आतंकी जगतार सिंह हवारा को चंडीगढ़ लाने से पहले ही चंडीगढ़ की बुड़ैल जेल में ब्लूटूथ डिवाइस मिला है। एक पुराने मामले में हवारा पर चार्ज फ्रेम के लिए चंडीगढ़ जिला अदालत ने हवारा को पेश करने के आदेश दे रखे हैं। हवारा मौजूदा समय में दिल्ली की तिहाड़ जेल में है। 17 दिसंबर को उसे पेश किया जाना है।

दरअसल चंडीगढ़ पुलिस ने बुड़ैल जेल में सरप्राइस चेकिंग अभियान चलाया था। इस दौरान यह ब्लूटूथ डिवाइस मिला। फर्श के हिस्से को नीचे से खोखला कर इस डिवाइस को छिपाया हुआ था। वहीं फर्श की उस जगह पर ऊपर डस्टबीन रख दिया गया था ताकि किसी को शक न हो। जानकारी के मुताबिक बैरक नंबर 8 में 150 के करीब कैदी हैं। यहां 500 फीट का बरामदा भी है।यह बैरक नंबर 8 में मिला है। पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

कैदी का पता लगा रही पुलिस
जानकारी के मुताबिक इस डिवाइस को फर्श के नीचे छिपाया हुआ था। वहीं जब इसकी बरामदगी हुई तो वह पूरी तरह से एक्टिव और चार्ज था। इसे तुरंत कब्जे में लेकर जेल अथॉरिटी पता लगाने में जुट गई है कि कौन कैदी इसे इस्तेमाल कर रहे थे। वहीं यह डिवाइस जेल में कैसे पहुंचा इसका भी पता लगाया जा रहा है। जेल प्रशासन और चंडीगढ़ पुलिस के सिक्योरिटी विंग के कर्मियों ने सोमवार रात को यह सरप्राइज सर्च की थी। मेटल डिटेक्टर की मदद से यह डिवाइस मिला है। सेक्टर 49 थाने में केस दर्ज किया गया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

10 महीने में यह सब बरामद हुआ
प्राप्त जानकारी के मुताबिक जेल में पिछले 10 महीनों में जेल में 10 मोबाइल फोन भी मिल चुके हैं। यह सस्ते और चाइनीज़ थे मगर वॉट्सऐप मौजूद था। वहीं इन मोबाइल फोन में से आधा दर्जन में एक्टिव सिम कार्ड भी थे। इसके अलावा कई प्रकार का ड्रग भी बरामद किया जा चुका है। इसमें चरस, भुक्की, तंबाकु आदि शामिल है। वहीं एक जेल वार्डन की कैदियों से कथित साठगांठ को लेकर उसे बर्खास्त भी किया जा चुका है। इसके अलावा जेल अस्पताल के एक कर्मी को कैदियों का मैसेज आगे पहुंचाने पर उसे गिरफ्तार किया गया था।

बता दें कि हवारा समेत जगतार सिंह तारा, परमजीत सिंह भ्यौरा और एक मामले में हत्यादोषी देवी सिंह बुड़ैल जेल में 104 फीट लंबी सुरंग खोद 21/22 जनवरी, 2004 की रात को फरार हो गए थे। देवी सिंह को छोड़ तीनों आतंकी पकड़े गए थे।

बब्बर खालसा आतंकी जगतार सिंह हवारा। (फाइल)

बब्बर खालसा आतंकी जगतार सिंह हवारा। (फाइल)

बुड़ैल जेल शिफ्ट हो सकता है हवारा
चंडीगढ़ जिला अदालत में एडिशनल सेशंस जज की कोर्ट ने जेल अथॉरिटी को हाल में जारी आदेशों में कहा था कि यदि हवारा के खिलाफ दिल्ली की अदालतों में कोई अन्य केस लंबित नहीं है तो उसे चंडीगढ़ (बुड़ैल जेल) शिफ्ट किया जाए। इससे चंडीगढ़ में उसके खिलाफ लंबित केसों की सुचारु रूप से सुनवाई हो सकेगी। बता दें कि हवारा को बेअंत सिंह हत्याकांड में आजीवन जेल की सजा दी गई थी। वहीं पंजाब में भी उसके खिलाफ केस दर्ज हुए थे।

दरअसल चंडीगढ़ कोर्ट में एक केस की सुनवाई के दौरान हवारा को न तो वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया जा सका था और न ही निजी रूप से उसकी पेशी हो पाई थी। जेल अथॉरिटी सुनवाई के दौरान उसे पेश करने में असमर्थ रहीं थी। ऐसे में सरकारी वकील और हवारा के वकील ने कहा था कि उसे निजी रूप से भी पेशी पर लाया जा सकता है। वर्ष 2005 के एक मामले में हवारा के 4 अक्तूबर को प्रोडक्शन वारंट जारी किए थे।

बता दें कि हवारा के खिलाफ सेक्टर 17 पुलिस स्टेशन और सेक्टर 34 पुलिस स्टेशन में 2 FIR दर्ज की गई थी। यह देशद्रोह, आपराधिक साजिश रचने, एक्सप्लोसिव एक्ट, आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत दर्ज की गई थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here