Home Delhi पीलीभीत की 5 फीट लंबी बांसुरी, अलीगढ़ का दो फुटा ताला और...

पीलीभीत की 5 फीट लंबी बांसुरी, अलीगढ़ का दो फुटा ताला और श्रीराम मंदिर भी देखिए | See also five feet long flute of Pilibhit, two feet lock of Aligarh and Shriram temple

0
6

गाजियाबाद2 घंटे पहले

दिल्ली के प्रगति मैदान में 14 नवंबर से शुरू हुए इंटरनेशनल व्यापार मेले (ट्रेड फेयर) में इस बार UP पवेलियन की धूम है। UP सरकार ने ‘वोकल फॉर लोकल’ का नारा दिया तो ये इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में पहुंचकर ‘लोकल टू ग्लोबल’ हो गया। इसी बहाने ‘वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट’ की ब्रांडिंग हो रही है। तमाम राज्यों से आए लोग इन्हें खरीदने में दिलचस्पी भी दिखा रहे हैं। हॉल नंबर तीन में लगे UP पवेलियन का आपको दौरा कराते हैं…

पीलीभीत की बांसुरी वहां के 'वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट' में शामिल है।

पीलीभीत की बांसुरी वहां के ‘वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट’ में शामिल है।

एटा का एक क्विंटल वजनी घंटा
UP पवेलियन का स्वागत द्वार ऐसा, मानो किसी मंदिर में प्रवेश कर रहे हों। एकदम अयोध्या मंदिर की झलक दिखलाई पड़ती है। अंदर घुसते ही आपको सबसे पहले श्रीराम मंदिर का मॉडल दिखाई देगा। मंदिर के ऊपर आसमान में उड़ते हवाई जहाज और एयरपोर्ट के इर्द-गिर्द खड़ी गगनचुंबी इमारतें ये दिखाती हैं कि अयोध्या की तस्वीर बदलने वाली है। यहां सबसे आकर्षण का बिंदु हैं पीलीभीत की पांच फीट लंबी बांसुरी, अलीगढ़ का करीब दो फुटा ताला और एक क्विंटल से ज्यादा वजनी एटा का घंटा। UP टूरिज्म ने इन जगहों पर लिखा है- ‘यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा।’

अलीगढ़ के ताले को सबसे अच्छा माना जाता है। देशभर में इसकी सप्लाई है।

अलीगढ़ के ताले को सबसे अच्छा माना जाता है। देशभर में इसकी सप्लाई है।

कानपुर की लेदर, कन्नौज का इत्र खूब बिक रहा
नोएडा अथॉरिटी ने अपना स्टॉल हूबहू गौतमबुद्धनगर जिले के एंट्री गेट की तरह सजवाया है, जैसा चिल्ला बॉर्डर पर देखने को मिलता है। कन्नौज के इत्र स्टॉल पर खूब खुशबू बिखर रही थी। इत्र की खूबियां बता रहे सौरभ दीक्षित ने बताया, साल-2019 के बाद अब ट्रेड फेयर में आए हैं। बिक्री का रिस्पांस खूब अच्छा मिल रहा है। मेरठ के क्रिकेट गुड्स, खुर्जा की क्रॉकरी, बागपत के स्टोन, आजमगढ़ की ब्लैक पॉटरी, कानपुर की लेदर, भदोही और मिर्जापुर की कारपेट, वाराणसी की सिल्क वाले स्टॉल पर भी खूब भीड़भाड़ है।

भारतीय रेलवे का स्टॉल देखिए, इसका नाम इस बार अयोध्या स्टेशन रखा है।

भारतीय रेलवे का स्टॉल देखिए, इसका नाम इस बार अयोध्या स्टेशन रखा है।

दिल्ली में अयोध्या रेलवे स्टेशन
भारतीय रेलवे ने इस बार अपना स्टॉल अयोध्या के लिए समर्पित कर दिया है। पूरे स्टॉल पर अयोध्या के श्रीराम मंदिर मॉडल की धूम है। इस स्टॉल पर एंट्री करते ही आपको सबसे ऊपर भगवान श्रीराम का विशाल मुकुट जैसा चिह्न देखने को मिलेगा। अयोध्या रेलवे स्टेशन किस तरह एयरपोर्ट जैसा बन रहा है, ये इस मॉडल में बताया गया है। करीब 10-11 एकड़ में ये स्टेशन होगा।

UP पवेलियन का वेलकम गेट मानो किसी मंदिर में प्रवेश कर रहे हों। एकदम अयोध्या मंदिर की झलक दिखलाई पड़ती है।

UP पवेलियन का वेलकम गेट मानो किसी मंदिर में प्रवेश कर रहे हों। एकदम अयोध्या मंदिर की झलक दिखलाई पड़ती है।

रामलला के दर्शन करने के लिए आपको पूजा सामग्री भी इसी स्टेशन पर मिलेगी। नवजात बच्चों को खिलाने के लिए नर्सरी भी होगी। यहां ठहरने के लिए पुरुष और महिलाओं के अलग-अलग लॉन्ज होंगे। पूरे स्टेशन के चारों ओर अयोध्या मंदिर के गुंबद लगाए जाएंगे। जबकि रेलवे स्टेशन के एंट्री पॉइंट पर श्रीराम मंदिर का मॉडल रहेगा।

NCRTC के स्टॉल पर आपको रैपिड रेल से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी।

NCRTC के स्टॉल पर आपको रैपिड रेल से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी।

रैपिड रेल कैसी होगी, NCRTC स्टॉल पर वर्चुअल जानिए
नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (NCRTC) ने भी अपना स्टॉल लगाकर दिल्ली से बन रहे पहले रीजनल रैपिड रेल कॉरिडोर को प्रदर्शित किया है। इसमें एक मॉडल मोदीनगर स्टेशन का रखा गया है। बताया गया है कि रीजनल रैपिड रेल किन मायनों में खास होगी। उसके अंदर बैठकर कैसा महसूस होगा और उसकी क्या-क्या विशेषताएं होंगी। यहां एक QR कोड स्कैन करके आप दो सवालों का जवाब देकर मार्च-2023 में चलने वाली पहली रैपिड रेल के प्रथम यात्री बनने का मौका पा सकते हैं।

  • अब तस्वीरों में देखिए UP पवेलियन…
दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में यूपी पवेलियन के सभी स्टॉल पर खूब भीड़ उमड़ रही है।

दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में यूपी पवेलियन के सभी स्टॉल पर खूब भीड़ उमड़ रही है।

अयोध्या के श्रीराम मंदिर, एयरपोर्ट और वहां के विकास कार्यों को ये मॉडल प्रदर्शित करता है। लोग यहां आकर खूब फोटो क्लिक करा रहे हैं।

अयोध्या के श्रीराम मंदिर, एयरपोर्ट और वहां के विकास कार्यों को ये मॉडल प्रदर्शित करता है। लोग यहां आकर खूब फोटो क्लिक करा रहे हैं।

भारतीय रेलवे के स्टॉल में अयोध्या रेलवे स्टेशन का मॉडल है। इसमें बताया गया है कि स्टेशन के बाहर श्रीराम मंदिर का स्वरूप ऐसा होगा।

भारतीय रेलवे के स्टॉल में अयोध्या रेलवे स्टेशन का मॉडल है। इसमें बताया गया है कि स्टेशन के बाहर श्रीराम मंदिर का स्वरूप ऐसा होगा।

UP पवेलियन का एंट्री गेट अयोध्या के श्रीराम मंदिर एंट्री गेट की तरह है।

UP पवेलियन का एंट्री गेट अयोध्या के श्रीराम मंदिर एंट्री गेट की तरह है।

ये नोएडा अथॉरिटी का स्टॉल है। इसका डिजाइन चिल्ला बॉर्डर पर बने गौतमबुद्धनगर जिले के एंट्री गेट की तरह रखा गया है।

ये नोएडा अथॉरिटी का स्टॉल है। इसका डिजाइन चिल्ला बॉर्डर पर बने गौतमबुद्धनगर जिले के एंट्री गेट की तरह रखा गया है।

कन्नौज के इत्र के स्टोर पर खूब लोग पहुंच रहे हैं। स्टॉल संचालक का कहना है कि इस बार कस्टमर काफी बढ़े हैं।

कन्नौज के इत्र के स्टोर पर खूब लोग पहुंच रहे हैं। स्टॉल संचालक का कहना है कि इस बार कस्टमर काफी बढ़े हैं।

गोरखपुर के टैराकोटा से बनी मूर्तियों की जबरदस्त डिमांड रहती है।

गोरखपुर के टैराकोटा से बनी मूर्तियों की जबरदस्त डिमांड रहती है।

UP पवेलियन में लगे उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों के प्रमुख प्रोडक्ट के स्टॉल।

UP पवेलियन में लगे उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों के प्रमुख प्रोडक्ट के स्टॉल।

भारतीय रेलवे के स्टॉल पर वंदे भारत ट्रेन को भी प्रदर्शित किया गया है। लोग यहां पहुंचकर इसकी खूबियां जान रहे हैं।

भारतीय रेलवे के स्टॉल पर वंदे भारत ट्रेन को भी प्रदर्शित किया गया है। लोग यहां पहुंचकर इसकी खूबियां जान रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: