नाटो से युद्ध की अटकलों के बीच यूरोप के इस देश ने रूस को भड़काया, संसद से प्रस्ताव पास कर बताया आतंकी

0
3

हाइलाइट्स

चेक संसद के निचले कक्ष ने एक रूस विरोधी दस्तावेज़ को अपनाया
प्रस्ताव वर्तमान रूसी शासन को एक आतंकवादी के रूप में वर्णित करता है

मास्को. यूरोपीय देश चेक रिपब्लिक ने अपनी निचली संसद में एक विधेयक पारित कर रूसी सरकार को आतंकवादी करार दिया है. न्यूज़ एजेंसी तास ने एक चेक समाचार वेबसाइट के हवाले से बताया कि चेक संसद के निचले सदन ने एक दस्तावेज को अपनाया है, जिसमें उन्होंने वर्तमान रूसी सरकार को “आतंकवादी शासन” का दर्ज दिया है. पारित दस्तावेज में कहा गया है कि यूरोप की संसदीय सभा की परिषद के एक प्रस्ताव के संबंध में वर्तमान रूसी शासन को एक आतंकवादी के रूप में वर्णित करता है.

रूस के कब्जाए क्षेत्रों को बताया अवैध
सांसदों ने यूक्रेन के क्षेत्र पर रूसी हमलों की निंदा की और इस साल की शुरुआत में यूक्रेन के चार पूर्व क्षेत्रों द्वारा आयोजित जनमत संग्रह के परिणाम को मान्यता देने से इनकार कर दिया. चेक रिपब्लिक द्वारा उठाये गए इस कदम ने एक बार फिर यूरोपीय देशों के साथ रूस के साथ बिगड़ते संबंधों की ओर इशारा किया है.

पोलैंड पर मिसाइल अटैक के बाद बढ़ा तनाव
पोलैंड में रूस की मिसाइल गिरने से 2 लोगों की मौत के बाद रूस के साथ पश्चिमी देशों का तनाव बढ़ गया है. इस घटना के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने G-7 देशों के साथ आपात बैठक की है. पोलैंड और नाटो के अगले कदम को लेकर हुई इस बातचीत की वजह से इंडोनेशिया में चल रही G-20 समिट के एक कार्यक्रम में बाइडन देरी से पहुंचे.

शायद रूस ने नहीं दागी मिसाइल?
अमेरिकी राष्ट्रपति ने नाटो देशों की बैठक में बताया कि ऐसा हो सकता है कि शायद यह मिसाइल रूस की ओर से नहीं दागी गई हो. हालांकि पोलैंड ने कहा कि मिसाइल रूस की तरफ से ही लॉन्च की गई थी जिसकी वजह से दो लोगों की मौत हुई है. पोलिश विदेश मंत्रालय ने बताया कि रॉकेट यूक्रेन की सीमा से लगभग 6 किमी (4 मील) की दूरी पर एक गांव प्रेज़वोडो पर गिरा. पोलिश अधिकारियों ने कहा कि मिसाइल रूस निर्मित थी.

Tags: Czech republic, Russia, World news

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here