धड़ाधड़ मिसाइल लॉन्‍च कर रहा है नॉर्थ कोरिया, कड़े प्रतिबंध लगवाना चाहता है साउथ कोरिया

0
4

हाइलाइट्स

उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को पूर्वी सागर में एक और अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल दागी.
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबंध लगवाने का आदेश दिया है.
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने अमेरिका और जापान के साथ सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने को कहा है.

सियोल. उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को पूर्वी सागर में एक और अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल दागी है. इसे लेकर दक्षिण कोरिया नाराज हो गया है. दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति यूं सुक-योल ने शुक्रवार को मिसाइल दागे जाने के बाद अधिकारियों को उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबंध लगवाने का आदेश दिया है. उनके कार्यालय ने एक बयान में कहा है कि एक आपातकालीन राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान, यूं ने उत्तर के खतरों का मुकाबला करने के लिए मजबूत विस्तारित प्रतिरोध को लागू करने का भी आह्वान किया है.

TRT World Now के अनुसार यूं सुक-योल ने आदेश में अमेरिका और जापान के साथ सुरक्षा सहयोग मजबूत करने को कहा है. अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ उत्तर कोरिया की कड़ी निंदा और कड़े प्रतिबंधों के लिए भी जोर देने को कहा है. आदेश में इसके लिए निवारक उपायों को सक्रिय रूप से लागू करने के लिए भी कहा गया है.

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने हाल के दिनों में एक रिकॉर्ड-ब्रेकिंग मिसाइल लॉन्चिंग जारी रखी है. इस लॉन्चिंग पर सियोल का कहना है कि इसने परमाणु परीक्षण के डर को बढ़ा दिया है. मालूम हो कि हाल ही में जब दक्षिण कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका पूर्वी सागर में सैन्य अभ्यास कर रहे थे उस समय उत्तर कोरिया ने तोप के सैकड़े गोले दागे थे. इनमें से कुछ गोले जापान में भी गिरे थे.

पढ़ें- उत्तर कोरिया ने लगातार दूसरे दिन दागी बैलिस्टिक मिसाइल, सियोल ने जताया परमाणु परीक्षण का डर

वहीं एक दिन पहले उत्तर कोरिया ने अमेरिका के खिलाफ एक बयान दिया था. बयान में कहा गया था कि अमेरिका अपने सहयोगियों के साथ क्षेत्र में सुरक्षा उपस्थिति बढ़ाने का प्रयास कर रहा है. इसके साथ ही उसने ‘कठोर सैन्य प्रतिक्रिया’ की चेतावनी भी दी थी. बयान के ठीक 2 घंटे बाद प्योंगयांग की ओर से पूर्वी सागर में बैलिस्टिक मिसाइल दागी गई थी.

Tags: Kim Jong Un, North korea tension, South korea

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here