दुपहिया-तीन पहिया वाहनों के चालान ऑटामेटिक कटेंगे | Blueprint for smooth traffic and tight security ready, challans of two-wheelers and three-wheelers will be cut automatically

0
21

गाजियाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

गाजियाबाद पुलिस कमिश्नरेट बनते ही दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की सुरक्षा का खाका खींचा गया है। यूपी गेट से लेकर भोजपुर तक 42 पॉइंट पर करीब 250 CCTV कैमरे लगाए जाएंगे। ये कैमरे तीन तरह के होंगे। एक कैमरा सिर्फ हाईवे पर नजर रखने के लिए होगा। दूसरा कैमरा वाहनों की नंबर प्लेट रीड करेगा। तीसरे तरह का कैमरा जूम और रोटेशन वाला होगा, जिसे एक क्लिक पर किसी भी दिशा में घुमाया जा सकेगा। इन कैमरों के लगते ही दुपहिया और तिपहिया वाहनों के चालान ऑटोमेटिक कटने शुरू हो जाएंगे, क्योंकि एक्सप्रेस-वे पर इनका संचालन प्रतिबंधित है।

गाजियाबाद के नवागत पुलिस कमिश्नर अजय कुमार मिश्र ने इस संबंध में एनएचएआई अधिकारियों संग बैठक की है।

गाजियाबाद के नवागत पुलिस कमिश्नर अजय कुमार मिश्र ने इस संबंध में एनएचएआई अधिकारियों संग बैठक की है।

पुलिस कमिश्नर बोले- एक हफ्ते में शुरू होगा काम
गाजियाबाद पुलिस कमिश्नर अजय कुमार मिश्र और NHAI की टैक्निकल टीम के बीच इस मुद्दे पर एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। इसके बाद दोनों विभाग की टीमों ने यूपी गेट से लेकर मेरठ बॉर्डर तक सर्वेक्षण किया। इसके बाद विभिन्न पॉइंट पर CCTV कैमरे लगाने पर सहमति बनी है। पुलिस कमिश्नर अजय मिश्र ने बताया कि एक हफ्ते के भीतर ये काम शुरू होने की उम्मीद है। इससे यातायात व्यवस्था बेहतर होगी और अपराधियों को आसानी से पकड़ा जा सकेगा।

कहां कैसे-कैसे कैमरे लगेंगे

  • भोजपुर से डासना के बीच 13 पॉइंट पर 36 VIDS (वीडियो इंसीडेंट डिटेक्शन सिस्टम) कैमरे, 22 ANPR (ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकॉग्निशन) कैमरे लगेंगे। रसूलपुर टोल प्लाजा पर 2 PTZ (पेन टिल जूम) कैमरे लगाए जाएंगे।
  • डासना से यूपी गेट के बीच 29 स्थानों पर 54 VIDS (वीडियो इंसीडेंट डिटेक्शन सिस्टम) कैमरे, 108 ANPR (ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकॉग्निशन) कैमरे लगेंगे। डासना टोल प्लाजा पर 14 PTZ (पेन टिल जूम) कैमरे लगेंगे।
  • दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे एवं इससे सटे राष्ट्रीय राजमार्ग-9 के सभी एंट्री-एग्जिट द्वार और अंडरपासों पर भी कैमरे लगाए जाएंगे।
एक्सप्रेस-वे पर दुपहिया व तिपहिया वाहनों का संचालन प्रतिबंधित है। इसलिए पुलिस अभी तक इनके मैनुअली चालान काटती थी।

एक्सप्रेस-वे पर दुपहिया व तिपहिया वाहनों का संचालन प्रतिबंधित है। इसलिए पुलिस अभी तक इनके मैनुअली चालान काटती थी।

इन कैमरों का क्या फायदा होगा?

  • चोरी किए गए वाहनों, चेन स्नेचरों को VIDS कैमरे से आसानी से पकड़ा जा सकेगा।
  • गलत लेन में चलने वाले वाहन चालकों पर चालानी कार्रवाई हो सकेगी।
  • विपरीत दिशा में चलने वाले वाहन चालकों के ऑटोमेटिक चालान कट जाएंगे।
  • बिना हेलमेट, तीन सवारी और तेज स्पीड चलने वाले वाहनों के भी ऑटोमेटिक चालान कटेंगे।

एक्सप्रेस-वे पर प्रतिबंधित हैं दुपहिया-तिपहिया वाहन
एक्सप्रेस-वे पर दुपहिया और तिपहिया वाहनों का संचालन पहले से प्रतिबंधित है, लेकिन कोई इसका पालन नहीं कर रहा। ये वाहन खूब दौड़ रहे हैं। अभी तक एक्सप्रेस-वे पर सिर्फ ओवर स्पीड वाहनों के चालान ऑटोमेटिक कट रहे थे। अब ये कैमरे लगने के बाद से दुपहिया व तिपहिया वाहनों के चालान भी ऑटोमेटिक कटने शुरू हो जाएंगे। यानि अब इन वाहनों को मेरठ से गाजियाबाद के बीच सफर करने के लिए वाया मोदीनगर रास्ते का ही इस्तेमाल करना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here