छेड़खानी का विरोध करने पर उपद्रवियों ने कॉलोनी में मचाया उत्पात, कारोबारी के घर किया हमला | The miscreants created a ruckus in the colony for opposing the molestation, attacked the businessman’s house

0
17

फरीदाबाद3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
जमकर की तोड़फोड़, पूरी कॉलोनी घंटों बनी रही बंधक, 35-40 की संख्या में थे उत्पाती। - Dainik Bhaskar

जमकर की तोड़फोड़, पूरी कॉलोनी घंटों बनी रही बंधक, 35-40 की संख्या में थे उत्पाती।

  • सभी के हाथ में लोहे के रॉड,ईंट पत्थर तक बरसाए, पुलिस ने दर्ज किया केस, हमलावर पुलिस की पकड़ से बाहर

पड़ोस में रहने वाली किशोरी से छेड़खानी का विरोध करने पर शरारती तत्वों ने कॉलोनी में रातभर जमकर उत्पात मचाया। घरों में पत्थर बरसाए और सामान की जमकर तोड़फोड़ की। उपद्रवियों ने कारोबारी के घर पर भी हमला किया। इनके चलते घंटाें पूरी कॉलोनी बंधक बनी रही। हैरानी की बात ये है कि पुलिस को सूचना देने के बाद भी कोई उचित कार्रवाई नहीं की गई। उपद्रवी शिकायकर्ता को पुलिस के सामने जान से मारने की धमकी देते रहे। दबाव पड़ने पर पुलिस ने उपद्रवियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है लेकिन अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया।

न्यू बसेलवा कॉलोनी निवासी कारोबारी संजय कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि उनकी कॉलोनी में एक किशोरी परिवार के साथ रहती है। कुछ अपराधी किस्म के लोग वहां आकर उससे छेड़छाड़ करते हैं। उन्हांेने कई बार विरोध किया तो जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। शनिवार की रात में वह अपने घर पर थे। तभी गली में अभय, चूसा व उसके साथ दस अन्य लड़के आए। आते ही घऱ पर सटर के दरवाजे में व घर का दरवाजा तोड़ना शुरू कर दिया। उनके हाथ में राड डंडे व सूंऐ थे। उन्होंने कहा कि दिवाली की रात करीब 12.00 बजे उपद्रवी फिर गली में आए। गली में लगे हुए कई मकानों के बिजली मीटर, शटर, बोर्ड, टेबल व कैमरे तोड़ दिए। जब लोग मकानों से बाहर आए तो उनके ऊपर भी ईंट-पत्थऱ बरसाए। हमलावरों की संख्या 35-40 थी। हमलावर 5-6 बाइक व गाड़ी में सवार होकर आए थे। पीड़ित का कहना है कि उपद्रवियों के चलते उनकी गली घंटे भर बंधक बनी रही। इस घटना के बाद से कॉलोनी में दहशत बनी हुई है। ओल्ड थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। लेकिन हमलावरों का सुराग नहीं लगा है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here