घटना से पहले बाइक सवार को भी रौंदा था ट्रक, पुलिस ने जांच में शामिल नहीं की घटना | Before the incident, the bike rider had also trampled the truck, the police did not participate in the investigation.

0
13

गोरखपुर37 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गोरखपुर में 11 अगस्त की शाम की रात CBI के डिप्टी SP रुपेश कुमार श्रीवास्तव को ट्रक से कूचलकर मारने की कोशिश के मामले में नया मोड़ सामने आया है। घटना स्थल से 6 किलोमीटर पहले ट्रक चालक ने एक बाइक चालक को भी ठोकर मार दिया था। जिसमें बाइक सवार का दोनों पैर फ्रैक्चर हो गया। उसका शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है।

ये तस्वीर 21 अगस्त, 2019 की है, जब CBI ऑफिसर रुपेश श्रीवास्तव ने पी. चिदंबरम को शारदा घोटाले में उनके घर से गिरफ्तार किया था।

ये तस्वीर 21 अगस्त, 2019 की है, जब CBI ऑफिसर रुपेश श्रीवास्तव ने पी. चिदंबरम को शारदा घोटाले में उनके घर से गिरफ्तार किया था।

CBI मान रही साजिश
दरअसल, CBI ऑफिसर रुपेश श्रीवास्तव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के चारा घोटाला और रेलवे भर्ती घोटाला, कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम सहित कई राज्य और केंद्र सरकार के मंत्रियों के हाई प्रोफाइल केस देख रहे हैं। उन्होंने ही पी. चिदंबरम को गिरफ्तार भी किया था। ऐसे में उन पर जानलेवा हमले के पीछे किसी बड़ी साजिश की आशंका जताई जा रही है।

ट्रक ने मारी थी ठोकर
गुलरिहा के ग्राम जंगल डुमरी नंबर 2 के टोला प्यारेपुर निवासी सुरेश चौहान का बेटा धनन्जय चौहान (25) 11 अगस्त की शाम लगभग 7.30 बजे जैनपुर के रामनगर चौराहे पर बाइक से सामान खरीदने जा रहा था। रामनगर चौराहे पर पहुंचा था, तभी पीछे ट्रक चालक ने बाइक में ठोकर मार दी। जिससे वह वहीं गिर गया।

दोनों पैर हो गए थे फ्रैक्चर
ट्रक के अगले पहिये के चपेट में आकर उसके दोनों पैर फ्रैक्चर हो गए। चौराहे पर दुर्घटना देख भीड़ पहुंची जो घायल को बचाते हुए ट्रक चालक को नीचे उतार कर उसे दो चार थप्पड़ जड़ते हुए ट्रक को सड़क से किनारे खड़ा करने को कहने लगी। चालक गाड़ी स्टार्ट तो किया, लेकिन वह तेज गति से गाड़ी लेकर भाग निकला। बताया जा रहा है कि लोग सामने से नहीं भागे होते तो दो चार लोगों को ट्रक रौंद डालता।

डायल 112 को दी थी सूचना
इसके बाद ग्रामीणों ने घटना की सूचना डायल 112 पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने इसकी जांच भी की। लोगों में चर्चा है कि ट्रक के साथ एक और व्यक्ति था, जो गाड़ी का साइड देख रहा था। इसके बाद ट्रक चालक ने बरगदहीं में CBI के डिप्टी SP की स्कार्पियो में ठोकर मरते हुए गिट्टी पर चढ़ने से ट्रक पलट गई। ट्रक के नीचे दबने से चालक की मौत हो गई।

CCTV फुटेज से हुई ट्रक की पहचान
घायल के परिजन जब चौराहे पर लगे CCTV कैमरे से फुटेज और वीडियो निकाला तब दुर्घटना किस ट्रक से हुई है इसकी पुष्टि हुई। मृतक के परिवार के लोगों ने मंगलवार को थाने पर CCTV फुटेज और वीडियो के साथ तहरीर दी। लेकिन पुलिस मामले की जांच कर कार्यवाही की बात कर रही है।

इन सवालों के जवाब नहीं दे पा रही पुलिस
वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि जिस ट्रक से बाइक चालक के दोनों पैर फ्रैक्चर हुए हैं। उसी ट्रक ने डिप्टी SP की स्कार्पियो में ठोकर मारी थी, जिससे वह बाल बाल बच गए। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि घटना की जांच में इस दुर्घटना को क्यों शामिल नहीं किया गया? घटना के बाद पुलिस ने CBI को पहली घटना के बारे में क्यों नहीं बताया? वहीं, ट्रक चालक गाड़ी लेकर इतने जल्दी में क्यों भाग निकला?

साथ ही वह दूसरा व्यक्ति कौन था जो गाड़ी का साइड देख रहा था? वह कहां गया? इसकी जांच अब तक क्यों नहीं हुई? साथ ही अगर 112 नंबर की पुलिस ने इसकी सूचना भटहट चौकी पुलिस को दी होती तो शायद ट्रक दुर्घटना से पहले ही पकड़ लिया जाता। लोग कई सवालों के जवाब ढूंढ रहे हैं। वहीं, CBI इस पूरे मामले को अलग नजर से देख रही है।

ट्रक से कुचलने की हुई थी कोशिश
रुपेश श्रीवास्तव मूल रूप से महराजगंज जिले के श्यामदेउरवां थाना क्षेत्र के पिपरालाला के रहने वाले हैं। वे अभी CBI, नई दिल्ली ब्रांच में डिप्टी SP के पद पर तैनात हैं। रक्षाबंधन पर गुरुवार को ही दिल्ली से एक दिन की छुट्टी पर वे घर आए थे। शाम को महाराजगंज से गोरखपुर लौटते वक्त उन्हें ट्रक से कुचलकर जान से मारने की कोशिश की गई है।

ट्रक पलटने से ड्राइवर की हो गई थी मौत
गुलरिहा इलाके के बरगदही के पास तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी कार को जोरदार टक्कर मार दी थी। इससे उनकी कार का एक हिस्सा पूरी तरह टूट गया। जब तक CBI अफसर और उनका ड्राइवर कुछ समझ पाते, तभी ट्रक ने दूसरी बार उनकी कार को टक्कर मारने की कोशिश की। मगर, ट्रक का पहिया सड़क पर पड़ी गिट्टी पर पड़ गया जिससे ट्रक पलट गया। हादसे में ट्रक ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई।

CBI अफसर पर हमले से जुड़ी अन्य खबरें भी पढ़ें:

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here