क्या यूक्रेन अब हार जायेगा युद्ध? रुसी सेना ने नष्ट किये 21000 से अधिक अत्याधुनिक सैन्य उपकरण

0
6

हाइलाइट्स

रूस ने करीब 2400 कॉम्बैट ड्रोन और 330 लड़ाकू विमान नष्ट किये
बीते दिनों रूसी सेना ने एक हफ्ते के भीतर 2500 से अधिक जवानों को मार गिराया था
यूक्रेन के एक सप्ताह पहले मारे गए सैनिकों की तुलना में यह संख्या डेढ़ गुना अधिक

मास्को. यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध के आठ महीने गुजर जाने के बाद रूसी सैनिकों ने वापस अपनी पकड़ को मजबूत करना शुरू कर दिया है. रूस की न्यूज़ एजेंसी TASS ने रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट-जनरल इगोर के हवाले से बताया कि रूसी वायु सेना ने पिछले दिनों आठ यूक्रेनी एचआईएमएआर और ओलखा रॉकेट, एक HARM एंटी-रडार मिसाइल के साथ ही एक तोचका-यू बैलिस्टिक मिसाइल को मार गिराया. आपको बता दें कि HIMARS अमेरिकी सेना का एडवांस रॉकेट लॉन्चर है, जो बीते दिनों रूस पर भारी पड़ रहा था. न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक अब तक रूस यूक्रेन के 21 हजार से अधिक अत्याधुनिक सैन्य उपकरणों को नष्ट कर चुका है.

2400 कॉम्बैट ड्रोन और 330 लड़ाकू विमान नष्ट
रिपोर्ट के अनुसार कुल मिलाकर, रूसी सशस्त्र बलों ने 331 यूक्रेनी सैन्य विमान, 169 हेलीकॉप्टर, 2,452 मानव रहित हवाई वाहन, 386 सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली, 6,398 टैंक, 883 मल्टीपल रॉकेट लॉन्चर, 3,560 फील्ड आर्टिलरी गन मोर्टार और 7,086 विशेष सैन्य मोटर वाहनको नष्ट कर दिया है.

यूक्रेन को काउंटर अटैक में हुआ नुकसान
यूक्रेन को रूस द्वारा कब्जा किये क्षेत्रों को छुड़ाना बेहद महंगा पड़ रहा है. रूस की सेना ने यूक्रेन के हमलों का जवाब देते हुए एक हफ्ते के भीतर 2500 से अधिक जवानों को मार गिराया है. पिछले दिनों एक ही दिन में लुहांस्क पीपुल्स रिपब्लिक (एलपीआर) की सेनाओं के साथ लड़ाई में यूक्रेन के कम से कम 50 जवानों की मौत हो गई थी. पीपुल्स मिलिशिया ने अपने टेलीग्राम चैनल पर फिलिपोनेंको का हवाला देते हुए कहा कि इस हमले में 50 यूक्रेनी सैनिक मारे गए. एक टैंक, 3 बख्तरबंद कर्मियों के वाहक और 13 विशेष वाहन का सफाया कर दिया गया.

रूस की न्यूज़ एजेंसी TASS की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रूसी सशस्त्र बलों ने पिछले सप्ताह यूक्रेन में अपने विशेष सैन्य अभियान के दौरान 2,500 से अधिक यूक्रेनी और विदेशी भाड़े के सैनिकों का सफाया कर दिया. एक सप्ताह पहले मारे गए सैनिकों की तुलना में यह संख्या डेढ़ गुना अधिक है. रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि 17 से 23 अक्टूबर तक यूक्रेन को ‘निकोलेयेव-क्रिवॉय रोग फ्रंट’ पर सैनिकों और उपकरणों के मामले में सबसे भारी नुकसान हुआ है.

Tags: Military operation, Russia ukraine war

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here