किरण चौधरी का अध्यक्ष पर पलटवार, मैं ऐसे थोड़ा कहीं भी प्रचार करने चली जाउंगी | Kiran Chaudhary Congress MLA Vs Bhupinder Singh Hooda, Udaybhan Haryana Congress President, Kumari Selja

0
5

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Kiran Chaudhary Congress MLA Vs Bhupinder Singh Hooda, Udaybhan Haryana Congress President, Kumari Selja

चंडीगढ़7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आदमपुर उपचुनाव में हार के बाद हरियाणा कांग्रेस में घमासान तेज हो गया है। कुमारी सैलजा के बाद अब किरण चौधरी ने भी भूपेंद्र हुड्‌डा खेमे के प्रदेश अध्यक्ष उदयभान पर पलटवार किया है।

विधायक किरण चौधरी ने कहा कि किसी भी चुनाव में ड्यूटी लगाना प्रदेश अध्यक्ष का काम होता है। मैं ऐसे ही थोड़े कहीं भी चली जाउंगी। मैं भी प्रदेश के सभी बड़े पदों पर काम कर चुकी हूं। उदयभान ने किरण चौधरी पर टिप्पणी की थी कि वह किसी ऐसी हैसियत में नहीं कि चुनाव को लेकर चर्चा की जाए।

मैं 5 बार विधायक रह चुकी हूं
किरण चौधरी ने कहा है कि मैं 5 बार विधायक रह चुकी हूं। इसके बाद भी वह मुझे नजरअंदाज करते हैं। हम चाहते हैं कि उनके साथ चलें, लेकिन वह मौका ही नहीं देते हैं। यहां तक कि वह हमसे बात करने में भी गुरेज करते हैं। आदमपुर उपचुनाव में यदि वह सम्मान से बोलते तो मैं प्रचार के लिए जरूर जाती।

इससे पहले प्रदेश में हुए उपचुनाव के लिए AICC में सभी नेताओं को बुलाकर चर्चा की जाती थी। वहीं इस बार आदमपुर चुनाव में किसी बड़े नेता को नहीं पूछा गया। यह अपने आप में बेहद अचरज भरी बात है। उन्होंने बताया कि आदमपुर में टिकट वितरण में प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है।

हरियाणा में एक कार्यक्रम के दौरान बुजुर्ग किरण चौधरी के पगड़ी बांधता हुआ।

हरियाणा में एक कार्यक्रम के दौरान बुजुर्ग किरण चौधरी के पगड़ी बांधता हुआ।

शैलजा के बयानों का किया समर्थन
किरण चौधरी ने कुमारी शैलजा के बयानों का समर्थन करते हुए कहा कि कांग्रेस को आगे बढ़ाने और सरकार बनाने के लिए सभी को मिलकर साथ चलना होगा। अगर एक तरफ की हवा दी गई तो पार्टी आगे नहीं बढ़ सकती। प्रदेश अध्यक्ष का पद बेहद गरिमा भरा पद होता है। इसलिए इस पद पर बैठकर ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

क्या बोले थे प्रदेश अध्यक्ष उदयभान
आदमपुर में उपचुनाव के प्रचार के दौरान नेताओं के नहीं पहुंचने पर उदयभान ने कहा था कि तब रणदीप सुरजेवाला भारत जोड़ो यात्रा में थे। कुमारी सैलजा को कई बार कहा गया, लेकिन वह भी नहीं आ पाईं। उन्होंने कहा कि किरण चौधरी को ऐसा नेता नहीं मानते हैं कि उनकी चर्चा की जाए। किरण चौधरी के पास ऐसा कोई पद नहीं है कि उन्हें टिकट बंटवारे में शामिल किया जाए। उन्हें अपने बयान पर सोचना चाहिए। उनकी ऐसी हैसियत नहीं है।

कुमारी सैलजा भी निशाना बना चुकी

इससे पहले पूर्व प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा भी भूपेंद्र हुड्‌डा पर जमकर तंज कस चुकी हैं। उन्होंने कहा कि इस उपचुनाव में जीत से कहीं ज्यादा हुड्‌डा को तीसरी बार CM प्रमोट किया गया। हरियाणा में कांग्रेस एक परिवार की पार्टी बनकर रह गई। जिसकी वजह से हार मिली। इस चुनाव में सबको साथ लेकर नहीं चला गया। चुनाव में यह प्रोजेक्ट किया गया कि पार्टी को कुछ लोग ही चला रहे हैं, जनता में ये संदेश दिया गया पूरी खबर पढ़ें

कांग्रेस का आदमपुर हार का बहाना:उदयभान और हुड्‌डा बोले- हारे जरूर, लेकिन कुलदीप बिश्नोई के 11 हजार वोट घटे

हरियाणा में हिसार के आदमपुर उपचुनाव में भाजपा की जीत के बाद अब कांग्रेसी अपने गणितीय फॉर्मूले के आधार पर हार पर सफाई दे रहे हैं। कांग्रेसी नेताओं का मानना है कि इसी गणितीय फॉर्मूले के हिसाब से आदमपुर में कांग्रेस मजबूत हुई। कुलदीप बिश्नोई के जाने से उनके केवल 11 हजार वोट ही कम हुए है पूरी खबर पढ़ें

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here