कई इलाकों में AQI 300 के पार, पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी से होने लगा ठंडक का अहसास | Delhi no improvement in AQI exceeds 300 snowfall in hilly states feeling cool

0
4

  • Hindi News
  • National
  • Delhi No Improvement In AQI Exceeds 300 Snowfall In Hilly States Feeling Cool

4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय राजधानी की हवा लगातार ‘बहुत खराब’ बनी हुई है। शुक्रवार को सुबह 350 के करीब AQI दर्ज किया गया। जिसके कारण आसमान में धुंध छाई रही। हालांकि शुक्रवार के मुकाबले आज थोड़ी राहत मिली है। दिल्ली-NCR में शुक्रवार की सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) लेवल ‘गंभीर’ श्रेणी के भी ऊपर AQI 500 के पार पहुंच गया था। दिल्ली के आसपास से सटे इलाकों की बात करें तो नोएडा में 353 में गुरुग्राम में 346 AQI रहा किया गया। इसके साइड इफैक्ट से बचने के लिए एक्सपर्ट्स ने कमरे में कपूर जलाने और बार बार पानी पीने की सलाह दी है।

उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के कारण दिल्ली में अब पॉल्यूशन के साथ तापमान में गिरावट होने लगी है। जिसके कारण सुबह और देर शाम ठंडक महसूस हुई। मौसम विभाग ने आज अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य के बराबर 29.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 ज्यादा 16.8 डिग्री सेल्सियस रहा। जो कि 11 सालों में सबसे अधिक है। इससे पहले 2011 में इस तारीख को पारा 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

राजधानी दिल्ली में अभी गरमाहट महसूस हुई है।

राजधानी दिल्ली में अभी गरमाहट महसूस हुई है।

दिल्ली में कहां कितना AQI?
शनिवार सुबह 9:30 बजे के आसपास दिल्ली के धीरपुर में AQI 306, लोधी रोड पर AQI 313, दिल्ली एयरपोर्ट (T3) पर AQI 373 और मथुरा रोड पर AQI 341 दर्ज किया। वहीं, दिल्ली यूनिवर्सिटी में AQI 351, आईआईटी दिल्ली में AQI 334, आयानगर में AQI 336 दर्ज किया गया।

NHRC बढ़ते प्रदूषण को लेकर सख्त
नेशनल ह्यूमन राइट्स कमिशन (NHRC) बढ़ते प्रदूषण को लेकर सख्त रवैया अपनाया है और उत्तर भारत, खासकर पंजाब में पराली जलाए जाने के मामलों पर जल्द कड़े कदम उठाने को कहा है। आयोग ने ये भी कहा कि पराली जलाने की घटनाओं पर सख्ती से रोक लगाई जाए। अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो पंजाब पर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है।

पराली जलाने से बढ़ रहा राजधानी का प्रदूषण
पंजाब के कारण दिल्ली में प्रदूषण पॉल्यूशन बढ़ने के आरोपों के बीच राज्य में पराली जलाने की घटनाओं का आंकड़ा 40 हजार के पार हो गया है, जो बड़े पैमाने पर राजधानी के नवंबर प्रदूषण संकट को हवा देती है। शुक्रवार को पंजाब में पराली जलाने के 3916 मामले सामने आए हैं जो इस महीने के सबसे अधिक हैं, वहीं गुरुवार को 1893 और बुधवार को 1778 थे। राज्य में आग जलाने के सबसे कम मंगलवार को 604 मामले दर्ज हुए थे। पंजाब के कृषि निदेशक ने बताया कि राज्य के 92 पर्सेंट एरिया में धान की खेती को साफ कर दिया गया है, और बाकी को सप्ताह के अंत तक हटा दिया जाएगा।

फ्लाइट में यात्रा करने वालों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें
पॉल्यूशन के बढ़ते असर और घने धुंध के कारण दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ानें रद्द या लेट हो सकती हैं। इससे हवाई यात्रियों की मुश्किलें बढ़ सकती है। दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट ने फ्लाइट्स से यात्रा करने वाले लोगों को घरों से निकलने से पहले फ्लाइट की अपडेटेड जानकारी लेने की अपील की है। हालांकि, अभी तक फ्लाइट्स के संचालन में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

दिन में मौसम साफ रहने की संभावना है।

दिन में मौसम साफ रहने की संभावना है।

हवा की दिशा में बदलाव से प्रदूषण में हल्की कमी
पश्चिम की हवा के साथ आने वाली धूल के चलते दिल्ली की हवा में प्रदूषक कण PM-10 तक पहुंच गई थी। अब हवा की दिशा में बदलाव हुआ है। दक्षिण पूर्व की तरफ से आ रही है। इसके चलते दिल्ली की हवा से धूलकण भी काफी हद तक साफ हुआ है, और राजधानी को अक्टूबर के बाद से सबसे स्वच्छ हवा मिली है।

दिल्ली में ठंडक का असर मॉर्निंग वॉक कर रहे लोगों पर दिखा। शनिवार सुबह बहुत कम लोग वॉक करते नजर आए।

दिल्ली में ठंडक का असर मॉर्निंग वॉक कर रहे लोगों पर दिखा। शनिवार सुबह बहुत कम लोग वॉक करते नजर आए।

दिल्ली में लागू हैं कई प्रतिबंध
सोमवार को दिल्ली सरकार ने कुछ छूट दे दी हैं। लेकिन हवा की खराब हालत के कारण अब भी कई तरह के प्रतिबंध लागू हैं। दिल्ली में BS-3 पेट्रोल और BS-4 डीजल वाहनों की आवाजाही पर 13 नवंबर तक रोक रहेगी। ईंट भट्टों, हॉट मिक्स प्लांट और स्टोन क्रशर को चलाने की परमिशन नहीं है। हालांकि मिल्क-डेयरी यूनिट और मेडिसिन बनाने वाली इंडस्ट्रियों-फैक्ट्रियों को छूट है।

क्या होता है AQI?
एयर क्वालिटी इंडेक्स हवा की जानकारी देता है। इसमें बताया जाता है कि हवा में किन गैसों की कितनी मात्रा घुली हुई है। जीरो से 50 के बीच AQI को ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच AQI को ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच AQI को ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच को ‘खराब’, 301 से 400 के बीच AQI को ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच AQI को ‘गंभीर’ माना जाता है। दिल्ली में आज सुबह 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ AQI दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here