‘ऑपरेशन​​​​​​​ लोट्स’ की FIR में शिकायतकर्ता हैं अमन अरोड़ा, बोले- यह केंद्र की छोटी मानसिकता | Aman Arora is the complainant in the FIR of Lotus Operation

0
2

चंडीगढ़43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब में AAP सरकार के ऊर्जा मंत्री अमन अरोड़ा के यूरोप जाने पर केंद्र सरकार ने रोक लगा दी है। केंद्र सरकार द्वारा अमन अरोड़ा को यूरोप जाने की परमिशन नहीं दी गई है। उन्हें बेल्जियम, जर्मनी और नीदरलैंड जाकर हाइड्रोजन क्षेत्र में नवीनतम विकास के बारे में जानकारी हासिल करनी थी।

अमन अरोड़ा 24 सितंबर से 2 अक्टूबर तक उक्त 3 देशों की यात्रा करना चाह रहे थे। केंद्र सरकार ने उनके यूरोप जाने पर पाबंदी किन कारणों से लगाई, फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो सका है।

गौरतलब है कि अमन अरोड़ा `ऑपरेशन लोट्स’ में AAP के विधायकों की खरीद-फरोख्त और धमकाने के मामले में दर्ज एफआईआर के 10 शिकायतकर्ताओं में से एक हैं।

केंद्र पर साधा निशाना

इस पर अमन अरोड़ा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार अरविंद केजरीवाल और AAP की नीतियों से डरती है। जर्मन ग्रुप के इंडो जर्मन एनर्जी फोरम ने ग्रीन हाइड्रोजन पर नॉलेज शेयरिंग टूर इनवाइट किया था। इस स्टडी टूर पर पंजाब से मुझे शामिल होना था। टूर का पूरा खर्च फोरम को ही उठाना था, लेकिन केंद्र सरकार ने केवल मुझे पंजाब का न्यू रिन्यूएबल एनर्जी मिनिस्टर होने के नाते पॉलिटिकल क्लीयरेंस देने से इनकार कर दिया, जबकि अन्य सभी स्टेट और डेलीगेट्स को परमिशन दी गई है।

अमन अरोड़ा ने कहा कि इससे पहले केंद्र सरकार ने ऐसा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ भी किया था। वह सिंगापुर जाना चाहते थे, तब भी केंद्र सरकार ने परमिशन नहीं दी थी। अब पंजाब के साथ धक्का शुरू कर दिया गया है। अरोड़ा ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार पंजाब को पराली के प्रदूषण पर कोसती जरूर है, लेकिन जिस स्टडी टूर से समाधान मिलना था, वहां की परमिशन न देना केंद्र की भाजपा सरकार की छोटी मानसिकता का उदाहरण है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार डरती है कि कहीं अरविंद केजरीवाल, AAP की दिल्ली और पंजाब सरकार का गवर्नेंस मॉडल लोगों में फेमस न हो जाए। पंजाब में पराली जलने पर केंद्र सरकार पंजाब और पंजाबियों को गालियां जरूर निकालेगी, लेकिन इसके सॉल्यूशन के इस स्टडी टूर की परमिशन से इनकार किया जाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here