ऑटो पार्ट विक्रेताओं व बाइक मैकेनिकों को चेतावनी, साइलेंसर मॉडिफाई करने पर होगी कानूनी कार्रवाई | Warning to auto parts sellers and bike mechanics, legal action will be taken on modifying the silencer

0
16

फरीदाबाद6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार  ऑटो पार्ट विक्रेताओं, बाइक मैकेनिक और वेल्डरों के साथ  बैठक करते  हुए। - Dainik Bhaskar

एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार  ऑटो पार्ट विक्रेताओं, बाइक मैकेनिक और वेल्डरों के साथ  बैठक करते हुए।

ट्रैफिक पुलिस अब ऑटो पार्टस विक्रेताओं और बाइक मैकेनिकाें पर भी शिकंजा कसने की तैयारी में है। एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार ने ऑटो पार्ट विक्रेताओं, बाइक मैकेनिक और वेल्डरों के साथ की बैठक कर साफ शब्दों में कहा कि बाइकों के साइलेंसर मॉडिफाई करने वाले मैकेनिकों और पार्टस बेचने वाले दुकानदारों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। दो दिन के अभियान मंे पुलिस ने 325 बुलेट बाइक की जांच की। इनमें से पटाखा छोड़ने वाले 30 बुलेट बाइक को इंपाउंड किया गया है।

बता दें कि डीसीपी ट्रैफिक नितीश अग्रवाल के निर्देश पर बुलेट मोटरसाइकिल के साइलेंसर में मॉडिफाई कर ध्वनि प्रदूषण फैलाने के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस मामले को लेकर शनिवार को शहर के सभी ऑटोमोबाइल मार्केट के मोटरसाइकिल मैकेनिक, दुकानदार और वेल्डरों के साथ, बैठक की। जिसमें एसएचओ ट्रैफिक दर्शन कुमार, तीनों जोन के टीआई मौजूद रहे। बैठक में मनोज भारद्वाज सेक्टर 11, सुरेश बल्लभगढ़ चावला कॉलोनी, आस मोहम्मद सेक्टर 3, आकाश एनआईटी -5 नंबर, सोनू सेक्टर 22 , महमूद और विनोद एनआईटी-1 नंबर, मनदीप, गौरव और सतनाम बाटा रोड एनआईटी, एचपी नरूला, नरेंद्र सिंह और राजकुमार एनआईटी-2, हेतराम संजय कॉलोनी, संजय और सलीम एसजीएम नगर बैठक में मौजूद रहे। एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार ने कहा कि मोटरसाइकिल के साइलेंसर में मॉडिफाई होने के कारण कई बार दुर्घटना हुई है। इसीलिए अब उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जो मोटरसाइकिल मॉडिफाई करने और सामान बेचने का काम कर रहे हैं।

पुलिस दर्ज करेगी एफआईआर

एसीपी ने कहा कि अगर किसी बुलेट मोटरसाइकिल के मॉडिफाई सिलेंडर के चालान होते हैं तो मोटरसाइकिल मालिक से मॉडिफाई कराने के संबंध में जानकारी ली जाएगी। मालिक जिस भी मैकेनिक का नाम बताएगा, उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि सभी अपनी दुकानों के सामने एक बोर्ड लगाएंगे। जिस पर लिखा होगा “इस दुकान पर मोटरसाइकिल के साइलेंसर में मॉडिफाई कार्य नहीं किया जाता, यह कानूनी अपराध है।उन्होंने ट्रैफिक एसएचओ और सभी टीआई को निर्देश दिए हैं कि वह सभी अपने अपने एरिया में गस्त करके सभी दुकानदार, मैकेनिक और वैल्डर को इस संबंध में सूचित करेंगे। यदि कोई ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here