एनआईटी क्षेत्र से जलभराव की समस्या खत्म नहीं हुई तो कीचड़ में नहाकर ग्रीवांस कमेटी की बैठक में आएंगे | If the problem of waterlogging is not eliminated from the NIT area, you will come to the meeting of the Grievance Committee after taking a bath in the mud.

0
6

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Faridabad
  • If The Problem Of Waterlogging Is Not Eliminated From The NIT Area, You Will Come To The Meeting Of The Grievance Committee After Taking A Bath In The Mud.

फरीदाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
कहा, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के सेमिनार में पब्लिक से नहीं लिया सवाल जवाब। फरीदाबाद के रोड मैप के बारे में नहीं दी गई कोई जानकारी। - Dainik Bhaskar

कहा, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के सेमिनार में पब्लिक से नहीं लिया सवाल जवाब। फरीदाबाद के रोड मैप के बारे में नहीं दी गई कोई जानकारी।

एनआईटी क्षेत्र से कांग्रेसी विधायक नीरज शर्मा ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि 20 नवंबर से पहले उनके विधानसभा क्षेत्र में जमा गंदा पानी की निकासी नहीं कराई गई तो वह ग्रीवांस कमेटी की बैठक में कीचड़ से नहाकर आएंगे। यदि सरकार इसी पर उतारू है तो हम अपने क्षेत्र के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। उन्हाेंने हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा शुकवार को एचएसवीपी के सभागार में ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के सेमिनार में फरीदाबाद के रोड मैप के बारे में जानकारी न देने को भी गलत करार दिया। उन्होंने ओपन सत्र न कराए जाने पर भी नाराजगी जाहिर की।

नीरज शर्मा ने कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने प्रदूषण के मामले में अपनी सरकार की आंखें खोलने का काम किया। उन्होंने कहा कि ऐसे सेमीनार सरकार के पैसे का दुरूपयोग हैं, खुद ही समस्या को बनाते हैं, बंधवाड़ी कूड़े का प्लांट इसका उदहारण है। शुक्र है इस मामले में मुख्यमंत्री ने इस समस्या के लिए नेहरू जी का नाम नहीं लिया। इस प्लांट ने आज तक कोई बिजली उत्पादन नहीं किया, फरीदाबाद में होने वाले इस सेमिनार में जिले की चर्चा होनी चाहिए ना की गुड़गांव की। उन्होंने कहा कि एनआईटी विधानसभा क्षेत्र में गंदे पानी की समस्या को लेकर विधानसभा में भी सवाल उठा चुके हैं। लेकिन कोई काम नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मेरी विधानसभा से 20 नवंबर से पहल कीचड़ नहीं हटवाया तो 20 को होनी वाली ग्रीवांस कमेटी की बैठक में वह कीचड़ से स्नान करके बैठक में शामिल होंगे। अब ये सरकार को तय करना है कि उन्हें क्या करना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here