आफताब रोज रात 2 बजे श्रद्धा के टुकड़े जंगल में फेंकता था,18 दिन में ठिकाने लगाया | Shraddha Murder Mystery; Delhi Police On Girl Lover Aftab Ameen Poonawalla | Delhi News

0
5

  • Hindi News
  • National
  • Shraddha Murder Mystery; Delhi Police On Girl Lover Aftab Ameen Poonawalla | Delhi News

नई दिल्ली12 मिनट पहले

श्रद्धा के पिता ने 8 नवंबर को पुलिस में अपहरण की शिकायत दर्ज कराई थी।

दिल्ली में 6 महीने पुरानी हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ। प्रेमी आफताब अमीन पूनावाला ने लिव इन पार्टनर और प्रेमिका श्रद्धा की हत्या कर उसके शव के 35 टुकड़े किए और उन्हें 18 दिन तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में ठिकाने लगाता रहा।

पुलिस ने आरोपी आफताब को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। एक साल पहले श्रद्धा अफताब के साथ रहने के लिए मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हुई थी।

26 साल की श्रद्धा मुंबई के मलाड की रहने वाली थी।

26 साल की श्रद्धा मुंबई के मलाड की रहने वाली थी।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में भाग लेकर अपनी राय दे सकते हैं…

अब इस पूरे घटनाक्रम को सिलसिलेवार समझते हैं…

कौन थी श्रद्धा?
26 साल की श्रद्धा मुंबई के मलाड की रहने वाली थी। यहां वह एक मल्टीनेशनल कंपनी के कॉल सेंटर में काम करती थी।

आफताब-श्रद्धा कब और कैसे मिले?
श्रद्धा और आफताब दोनों कॉल सेंटर में काम करते थे। यहीं दोनों की मुलाकात हुई। दोनों प्यार करने लगे, लेकिन दोनों के रिश्तों से परिवार वाले नाखुश थे। इसके चलते दोनों मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हो गए और महरौली के एक फ्लैट में लिव इन में रहने लगे।

फोटो आफताब शेफ का है। दोनों डेटिंग ऐप्प के जरिए संपर्क में आए।

फोटो आफताब शेफ का है। दोनों डेटिंग ऐप्प के जरिए संपर्क में आए।

झगड़े के बाद कत्ल किया
साउथ दिल्ली के एडिशनल डीसीपी अंकित चौहान ने बताया, 18 मई को झगड़े के बाद आफताब ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने उसकी बॉडी के 35 टुकड़े किए और उन्हें फ्रिज में रख दिया। पुलिस ने बताया कि वह हर रोज रात को 2 बजे घर से निकलता और टुकड़ों को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में ठिकाने लगाता।

शव के आरी से टुकड़े किए
पुलिस के मुताबिक, आफताब ने शव के टुकड़े करने के लिए आरी का इस्तेमाल किया। उसने पहले उसके हाथो के तीन टुकड़े किए। इसके बाद पैर के भी तीन टुकड़े किए। इसके बाद रोज वह बैग में रखकर इन्हें फेंकने के लिए ले जाता।

श्रद्धा और आफताब दोनों कॉल सेंटर में काम करते थे। यहीं दोनों की मुलाकात हुई।

श्रद्धा और आफताब दोनों कॉल सेंटर में काम करते थे। यहीं दोनों की मुलाकात हुई।

बेटी ने फोन उठाना बंद किया तो परिवार दिल्ली पहुंचा
18 मई के बाद श्रद्धा ने परिवार का फोन उठाना बंद कर दिया। इससे चिंता हुई और पिता विकास मदान बेटी का हालचाल जानने 8 नवंबर को दिल्ली पहुंचे। जब वे इसके घर पहुंचे तो ताला लगा था। उन्होंने महरौली पुलिस में शिकायत की और बेटी के अगवा होने का आरोप लगाया।

श्रद्धा और आफताब की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

श्रद्धा और आफताब की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

कबूलनामा- श्रद्धा शादी के लिए दबाव बना रही थी
पिता की शिकायत पर पुलिस ने आफताब को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता रहता था। वह शादी के दबाव बना रही थी। इसलिए तंग आकर हत्या कर दी। अब पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर श्रद्धा की बॉडी को सर्च करना शुरू कर दिया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here